आप जानते हैं दिल्ली की सबसे छोटी लोकसभा सीट के बारे में,बड़े कद वाले उम्मीदवार आजमाते हैं किस्मत

New Delhi: दिल्ली की chandni chowk लोकसभा सीट उन सीटों में से एक है जहां बड़े नेताओं की दांव लगी हुई है।  यह दिल्ली की सबसे छोटी लोकसभा सीट है। इस लोकसभा क्षेत्र में करीब 15 लाख के करीब वोटर्स हैं। दिल्‍ली की सातों लोकसभा सीटों में से चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र सबसे प्रमुख है। यह सीट इसलिए भी खास है कि पुरानी दिल्‍ली का इलाका इसी संसदीय क्षेत्र में आता है। chandni chowk  पर 1957 से लेकर 2014 तक कुल 14 लोकसभा चुनाव हो चुके हैं। इनमें से कांग्रेस अब तक 9 बार जीत चुकी है वहीं बीजेपी चार बार यहां से जीत दर्ज कर चुकी है।

chandni chowk लोकसभा सीट इसलिए भी दिलचस्प होती है क्योंकि यहां हमेशा से ही बड़े कद वाले उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाते रहे हैं। 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी से डॉ. हर्षवर्धन तो कांग्रेस से कपिल सिब्बल उनके सामने थे। यह निर्वाचन क्षेत्र साल 1956 में अस्तित्व में आया। इससे पहले सिर्फ नई दिल्ली सीट पर 1951 में चुनाव हुआ था। चांदनी चौक पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के नजदीक स्थित है। लाल किला यहीं पर है। यहां की सबसे बड़ी और प्रमुख जामा मस्जिद इसी क्षेत्र में स्थित है। मुस्लिमों के लिए आस्था का यह प्रमुख केंद्र है।

chandni chowk का इतिहास बेहद दिलचस्‍प रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां अधिकांश सांसद 2-2 कार्यकाल पूरे करके गए हैं। इस सीट पर प्रमुख मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी में ही देखने को मिलेगा। चांदनी चौक सीट पर साल 1996 के लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा 79 उम्मीदवार खड़े हुए थे। उस चुनाव में कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल ने जीत हासिल की थी। वहीं साल 1991 में 42 और 2009 में 41 उम्मीदवारों ने ताल ठोकी थी।

live india

1996 में कांग्रेस के जय प्रकाश अग्रवाल यहां से सांसद बने। वर्तमान में बीजेपी के डॉ. हर्षवर्धन यहां से सांसद हैं। कांग्रेस के कपिल सिब्बल अब तक लगातार दो बार इस निर्वाचन क्षेत्र से सांसद रह चुके हैं। उनकी चांदनी चौक में मजबूत पकड़ मानी जाती है। चांदनी चौक में 2019 लोकसभा चुनाव के लिए 15 लाख करीब कुल मतदाता है। इसमें 820442 पुरुष और 687341 महिला वोटर हैं। चांदनी चौक सीट पर साल 1996 के लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा 79 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था। उस चुनाव में कांग्रेस के जयप्रकाश अग्रवाल ने जीत हासिल की थी। वहीं, साल 1991 में 42 और साल 2009 में 41 उम्मीदवार मैदान में थे।

सीख नहीं पा रहा मीठे झूठ बोलने का हुनर, कड़वे सच से हमसे न जाने कितने लोग रूठ गए: अमिताभ बच्चन

साल 2019 में लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपनी लिस्ट जारी की। जिसमें चांदनी चौक से जेपी अग्रवाल, उत्तर पूर्वी दिल्ली से शीला दीक्षित, पूर्व दिल्ली से अरविंदर सिंह लवली, नई दिल्ली से अजय माकन, उत्तर पश्चिमी दिल्ली से राजेश लिलोठिया और पश्चिमी दिल्ली से महाबल मिश्रा उम्मीदवार होंगे।  वहीं, BJP से दिल्ली की चांदनी चौक सीट से डॅा. हर्षवर्धन, नॅार्थ ईस्ट दिल्ली से मनोज तिवारी, वेस्ट दिल्ली से प्रवेश वर्मा और साउथ दिल्ली से रमेश बिधूड़ी को उम्मीदवार बनाया गया है।