हेल्थ टिप्स : अधिक पपीता खाना स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है, ये आपके शरीर को खराब कर सकता है

New Delhi : पीपता एक ऐसा फल है जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। यह फल खनिज, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट से भरा है। यह कम कैलोरी वाला फल कई तरह से स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है। यह सेहत के साथ-साथ त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद है। यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से लड़ने, वजन कम करने, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने, स्वस्थ त्वचा पाने और कब्ज आदि से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होता है, लेकिन इसके अधिक सेवन से कई स्वास्थ्य नुकसान हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं पपीता खाने के दुष्प्रभावों के बारे में।

गर्भवती महिलाओं को पपीता खाने से बचने की सलाह दी जाती है, क्योंकि पपीते के बीज और जड़ें भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती हैं। पपीते में अधिक मात्रा में लेटेक्स होता है जो गर्भाशय संकोचन का कारण बन सकता है। पपीते में मौजूद पपेन शरीर की झिल्ली को नुकसान पहुंचा सकता है जो भ्रूण के विकास के लिए आवश्यक है।
पपीते में फाइबर की एक बड़ी मात्रा होती है। कब्जे में होने पर यह आपको फायदा दे सकता है। लेकिन बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने से भी आपका पेट खराब हो सकता है। इसके अलावा, पपीते की बाहरी त्वचा पर लेटेक्स होता है, जो पेट को परेशान कर सकता है और पेट दर्द का कारण भी बन सकता है।
पपीता रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है, जो मधुमेह के रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है। ऐसी स्थिति में, यदि आप एक मधुमेह रोगी हैं, तो डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक होगा।
पपीते में मौजूद लेटेक्स से एलर्जी की संभावना होती है। इसके अधिक सेवन से सूजन, चक्कर आना, सिरदर्द, चकत्ते और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं। पपीते में मौजूद एक एंजाइम पैपेन को एक संभावित एलर्जी के रूप में भी जाना जाता है। पपीते का अधिक मात्रा में सेवन करने से विभिन्न श्वसन विकार हो सकते हैं जैसे अस्थमा, कंजेशन और तेज सांस लेना।
पपीते में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। किडनी की समस्या किडनी में विटामिन सी की अधिकता से हो सकती है। आपको एक दिन में 1 से अधिक पपीता खाने से बचना चाहिए क्योंकि बहुत अधिक पपीता खाने से आपके गले पर असर पड़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine + = sixteen