पुरानी दिल्ली के हौज काजी के मंदिर में लौटे भगवान, शोभा यात्रा में मुसलमानों ने बरसाए फूल

New Delhi :  कुछ दिन पहले पुरानी दिल्ली के जिस हौज काजी में तनाव था आज वहां शांति और प्यार है। प्यार है उन दोनों धर्मों के बीच जिनके बीच फूट डालने की भरपूर कोशिश की गई थी। दरअसल, पुरानी दिल्ली के हौज काजी में तनाव के दौरान जिस मंदिर को नुकसान पहुंचा था, वहां मंगलवार को मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा की गई।

कड़ी सुरक्षा में भव्य शोभा यात्रा निकली, जिसमें मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। यात्रा जहां से गुजरी, वह इलाका गेरुएधारी लोगों से रंगा दिखा। मुस्लिम बहुल इलाकों में भी लोगों ने यात्रा पर फूल बरसाए। शहनाई बजाकर स्वागत किया। सांप्रदायिक सौहार्द की यह गंगा-जमुनी तहजीब भंडारे में भी दिखी।

लालकुआं इलाका गेरुए रंग में रंगा दिखा। लोगों ने गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की। दूसरे समुदाय के लोगों ने शोभा यात्रा निकाल रहे लोगों का स्वागत फूल बरसा कर किया। भंडारा भी बंटवाया। बीते दिनों दो लोगों के बीच पार्किंग विवाद के बाद माहौल सांप्रदायिक बन गया था। उपद्रवियों की भीड़ ने धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ की थी। मंगलवार को उसी धार्मिक स्थल पर प्राण प्रतिष्ठा के लिए शोभायात्रा निकाली गई। इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने हौज काजी में मंदिर में तोड़फोड़ की घटना के बाद उपजे तनाव के बीच इलाके का दौरा किया था।