हरियाणा के मुख्यमंत्री एमएल खट्टर

हरियाणा CM खट्टर का बड़ा फैसला – कोरोना में डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों को डबल सैलरी

New Delhi : कोरोना आपदा बढ़ती जा रही है। इससे ड्यूटी में लगे हजारों स्वास्थ्यकर्मियों की चुनौतियां भी बढ़ा दी हैं। इसी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने कोरोना मरीजों के इलाज, देखभाल और टेस्टिंग में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को डबल सैलरी देने का फैसला किया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुरुवार को इसकी घोषणा की।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर

CM मनोहर लाल खट्टर ने कहा – जब तक कोरोना महामारी राज्य में है, तब तक कोरोना मरीजों के इलाज, देखभाल और उनकी टेस्टिंग में लगे स्वास्थ्यकर्मियों और डॉक्टरों को डबल सैलरी दी जाएगी।

उनके इस फैसले की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ हो रही है। हरियाणा में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 201 हो गई है। इनमें से 29 मरीज जहां पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, वहीं अब तक 3 मरीजों की इससे जान जा चुकी है। इस बीच राज्य की अलग-अलग जेलों में बंद सात साल से कम की सजा वाले अपराधों के दोषी 3,817 कैदियों को अंतरिम या नियमित जमानत और पैरोल पर रिहा कर दिया गया है।
राज्य के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मंगलवार को कहा था कि कोरोना के मामलों में ज्यादा बढ़ोतरी तबलीगी जमात के अनेक लोगों के संक्रमित पाए जाने की वजह से हुई। उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक तबलीगी जमात के 1,550 सदस्यों का पता लगाया गया है, जिनमें से 107 विदेशी हैं। विज ने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से लौटे तबलीगी जमात के लोगों को 8 अप्रैल शाम पांच बजे तक का समय देते हुए कहा था कि वे संबंधित जिला प्रशासन से संपर्क करें, नहीं तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

विज ने बुधवार को कहा – निर्देशित समय सीमा समाप्त हो चुकी है। अब जिनका पता लगाया जाएगा और वे कोरोना से संक्रमित मिले तो उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ sixty five = seventy one