हार्दिक पंडया और लोकेश राहुल को BCCI ने किया सस्पेंड, जांच होने तक नहीं खेल पाएंगे क्रिकेट

New Delhi: भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पंडया और केएल राहुल को शुक्रवार को एक टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर की गई अभद्र टिप्पणी के लिए जांच लंबित होने तक निलंबित कर दिया गया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के आदेश के बाद शनिवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शरू हुो रही वन डे सीरीज में हार्दिक पंडया और केएल राहुल नहीं खेल पाएंगे। दरअसल इन दोनों क्रिकेटरों की कॉफी विद करण कार्यक्रम में की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के कारण बवाल मच गया था। उन्हें सिडनी में शनिवार को होने वाले पहले वनडे मैच के लिए टीम में भी नहीं चुना गया था।

सीओए के अध्यक्ष विनोद राय ने पीटीआई से कहा कि हार्दिक पंडया और राहुल दोनों को जांच लंबित होने तक निलंबित किया गया है। बीसीसीआई सूत्रों ने कहा कि इन दोनों को औपचारिक जांच शुरू होने से पहले नए सिरे से कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। राय ने कहा कि भारतीय टीम प्रबंधन यह फैसला करेगा कि वह इन दोनों को टीम में बनाए रखना चाहता है या उन्हें स्वदेश भेजना चाहता है।

हालांकि बीसीसीआई के कुछ लोगों का मानना है कि उन्हें टीम के साथ रखना चाहिए क्योंकि स्वदेश में उनके खिलाफ लोगों का रवैया कड़ा हो सकता है जबकि बीसीसीआई के अधिक्तर अधिकारी इसके खिलाफ है। अग इन दोनों को ऑस्ट्रेलिया से स्वदेश बुलाया जाता है तो उनकी जगह ऋषभ पंत और मनीष पांडे को टीम में शामिल किया जा सकता है।

Hardik Pandya

हार्दिक और राहुल पर यह फैसला तब आया जबकि सीओए में राय की साथी डायना इडुल्जी ने इन दोनों पर आगे की कार्रवाई तक निलंबन की सिफारिश की थी क्योंकि बीसीसीआई की विधि टीम ने महिलाओं पर इनकी विवादास्पद टिप्पणी को आचार सहिंता का उल्लंघन घोषित करने से इनकार कर दिया है।

कानूनी टीम से राय लेने के बाद इडुल्जी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा यह जरूरी है कि दुर्व्यवहार पर कार्रवाई का फैसला लिए जाने तक दोनों खिलाड़ियों को निलंबित रखा जाए जैसा कि सीईओ राहुल जौहरी के मामले में किया गया था जब यौन उत्पीड़न के मामले में उन्हें छुट्टी पर भेज दिया गया था। प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली ने भी दोनों खिलाड़ियों के बयान की निंदा की थी।