राफेल: HAL कर्मचारियों ने मोदी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप, कहा-कंपनी को बंद करने की हो रही साजिश

New Delhi: राफेल मामले को लेकर इन दिनों मोदी सरकार पर एक के बाद एक गंभीर आरोप लग रहे हैं। इस कड़ी में अब HAL कर्मचारियों ने मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कर्मियों ने बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि, सरकार कंपनी को बंद करने की साजिश रच रही है।

 

मोदी सरकार पर HAL कर्मचारियों का बड़ा आरोप

गौरतलब है कि, 2019 चुनाव में अब मोदी सरकार की राहें आसान नहीं रही हैं। वहीं राहुल गांधी राफेल मामले को लेकर सरकार पर लगातार हमलावर नजर आ रहे हैं। ऐसे में अब एचएएल कर्मचारियों के एक समूह ने गुरुवार को एनडीए सरकार पर कंपनी को ‘खस्ताहाल बनाकर बंद करने’ की साजिश रचने का आरोप लगाया। इन कर्मचारियों ने सरकार से राफेल विमान सौदे के तहत शेष 90 विमानों का प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के जरिये एचएएल में निर्माण का ठेका दिए जाने की मांग की है। राफेल मुद्दे को लेकर कांग्रेस पिछले कई दिनों से मोदी सरकार पर हमलावर नजर आ रही है। इसी बीच अब HAL कर्मचारियों ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर कंपनी की क्षमता को लेकर ‘गलत कहानी गढ़ने’ का आरोप लगाया। उनके मुताबिक सीतारमण ने एचएएल की ऐसी तस्वीर पेश की है कि कंपनी राफेल लड़ाकू विमान बनाने में अक्षम है।

rafale

मोदी ने कहा-मुझपर आरोप नहीं सरकार पर हैं

राफेल डील को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर लगातार आरोप लगा रही है। वहीं अब पीएम मोदी ने नए साल पर न्यूज एजेंसी ANI को दिए एक इंटरव्यू में सरकार पर लग रहे आरोपों पर खुलकर बात की। पीएम मोदी ने कहा, ”राफेल पर मुझपर व्यक्तिगत आरोप नहीं, सरकार पर आरोप हैं। राफेल डील के मामले को सुप्रीम कोर्ट भी साफ कर चुका है, दूध का दूध और पानी का पानी हो चुका है। ” उन्होंने कहा, ”मीडिया को राफेल डील पर राहुल गांधी से सबूत मांगना चाहिए।” पीएम के इस बयान के बाद आज कांग्रेस ने मनोहर पर्रिकर पर आरोप लगाते हुए कहा कि, राफेल; डील की फाइलें उन्ही के घर पर राखी हैं।