भारत में बना LUH हेलीकॉप्टर का किया गया सफलतापूर्वक परीक्षण, जल्द ही सेना में होगा शामिल

New Delhi : हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) स्वदेश में विकसित लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। इस हेलीकॉप्टर को हिमालय के मौसम और उच्च ऊंचाई में सपलतापूर्वक परीक्षण किया गया। बता दें कि भारतीय सेना द्वारा 24 अगस्त से 2 सितंबर तक परीक्षण किए गए थे।

 

HAL के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक आर माधवन ने कहा इस परिक्षण में लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर हर कसौटी में खरा उतरा है और अब इसे मंजूरी मिलने का ही इंतजार है।

आपको बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) स्वदेशी विकसित लाइट यूटिलिटी हेलीकॉप्टर ने बेंगलुरू में 6 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ान के महत्वपूर्ण मील का पत्थर हासिल किया था। यह HAL के स्वदेशी रोटरी विंग रिसर्च एंड डिज़ाइन सेंटर (RWRDC) द्वारा डिजाइन और विकसित 3-टन वर्ग की नई पीढ़ी के हेलीकॉप्टर है। यह भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा उपयोग किए जाने वाले चीता और चेतक हेलीकॉप्टरों के बुजुर्ग बेड़े को प्रतिस्थापित करेगा।

गौरतलब है  कि यह मल्टी-रोल हेलीकॉप्टर सैन्य और नागरिक दोनों जरूरतों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह निगरानी, टोही, बचाव, चिकित्सा निकासी और कार्गो / टुकड़ी परिवहन जैसे कई अभियानों को करने में सक्षम होगा।हेलीकॉप्टर का केबिन और एयरफ्रेम मिश्रित सामग्री से बने हैं। इसमें पोर्ट पर दो एक्सेस दरवाजे और खिड़कियां हैं, साथ ही यात्रियों के प्रवेश और निकास के लिए पतवार के स्टारबोर्ड पक्ष हैं। अगली पीढ़ी के हेलीकॉप्टर को उच्च क्षमता वाले स्किड-टाइप लैंडिंग गियर से सुसज्जित किया गया है।

LUH एक ग्लास कॉकपिट को मल्टी-फंक्शन डिस्प्ले (MFDs) से लैस करता है। स्मार्ट कॉकपिट डिस्प्ले सिस्टम एलसीडी स्क्रीन पर प्रमुख उड़ान डेटा प्रस्तुत करता है। नई पीढ़ी के हेलीकॉप्टर में ऑटो-पायलट और हेलमेट-माउंटेड डिस्प्ले सिस्टम भी है।