भारतीय नौसेना में शामिल हुए नई तकनीक से लैस चेतक हेलीकॉप्टर, बेहतर संचार से सेना होगी मजबूत

New Delhi: HAL ने भारतीय नौसेना के लिए तय समय से पहले चेतक हेलीकॉप्टर पहुंचाया है। बुधवार को बेंगलुरु में आयोजित एक समारोह में हेलिकॉप्टर डिवीजन-एचएएल के महाप्रबंधक एस अंबुवेलन, कमोडोर विक्रम मेनन, वीएसएम, सीएसओ (वायु), एचक्यूएनए द्वारा आयोजित कार्यक्रम में दस्तावेज सौंपे गए। HAL ने अगस्त 2017 में भारतीय नेवी के साथ आठ चेतक हेलीकॉप्टरों की आपूर्ति के लिए एक समझौता हुआ था।

अगस्त 2019 में पहले दो और अगस्त 2020 में बाकी के 6 हेलीकॉप्टरों को नेवी को डिलीवर किया जाएगा। इन हेलीकॉप्टरों में HAL द्वारा विकसित नवीनतम संचार और नेविगेशन सिस्टम की सुविधा प्रदान की गई है। HAL पिछले पांच दशकों से चेतक हेलिकॉप्टरों का उत्पादन कर रहा है और फरवरी 1966 में भारतीय नौसेना को पहला चेतक हेलीकॉप्टर भेजा गया था।

इन हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल संचार कार्यों के लिए नौसेना द्वारा किया जाता है। यात्री परिवहन, माल परिवहन, आकस्मिक निकासी, खोज और बचाव, क्षेत्र सर्वेक्षण और गश्त, आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं, इलेक्ट्रॉनिक समाचार सभा, एंटी हाइजैकिंग, अपतटीय संचालन और अंडर-स्लंग ऑपरेशनस के लिए भारतीय नौसेना द्वारा चेतक हेलिकॉप्टर का इस्तमाल किया जाता है।

HAL ने अब तक 350 से अधिक चेतक हेलीकॉप्टरों का उत्पादन किया है और लगभग 80 को भारतीय नौसेना को वितरित किये हैं। वर्तमान में, 51 हेलीकॉप्टर नौसेना में उड़ान भर रहे हैं। इन हेलीकॉप्टरों की सेवाक्षमता हमेशा उच्च बनी हुई रहती है। HAL इन हेलीकॉप्टरों की समय-समय पर सर्विसिंग, पुर्जों की निकासी, दोष निवारण के लिए टीमों की नियुक्ति और इन हेलीकाप्टरों की स्थिरता के लिए किसी अन्य आवश्यकता के लिए नौसेना का समर्थन करता रहता है।

जीवीएस भास्कर, सीईओ-हेलिकॉप्टर कॉम्प्लेक्स ने कहा, ” HAL ने नवीनतम तकनीकों को शामिल करने के बाद चेतक हेलीकॉप्टर उत्पादन को फिर से शुरू किया है। हम डिलीवरी शेड्यूल के अनुसार शेष सात हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”