सरकार का फैसला ,गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती पर समय से पहले रिहा होंगे 9 सिख कैदी

New Delhi : गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के अवसर पर, केंद्र सरकार ने पंजाब में उग्रवाद के दौरान विभिन्न अदालतों द्वारा दोषी ठहराए गए नौ सिख कैदियों को विशेष छूट देने का फैसला किया है।

इनमे से सरकार ने एक कैदी की मौत की सजा को उम्रकैद में बदलने का फैसला किया है।जबकि उम्रकैद की सजा काट रहे आठ अन्य कैदियों को समय से पहले रिहा करने का फैसला किया है। सरकार ने यह फैसले मानवीय आधार पर लिए है। इन सभी कैदियों को पंजाब में उग्रवाद के दौरान गिरफ़्तार किया गया था।

गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार इन कैदियों की रिहाई के कई सिख समुदायों द्वारा लंबे समय से मांग की जा रही थी। जिसके बाद सरकार ने इच्छाशक्ति और मानवीय आधार पर यह फैसला लिया है।

इसके अलावा महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाने के लिए कैदियों को विशेष छूट देने की योजना के तहत, अब तक दो चरणों (2 अक्टूबर 2018 और 6 अप्रैल 2019) में 1424 कैदियों को विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा रिहा किया गया है और तीसरे चरण की रिहाई 2 अक्टूबर 2019 को होने वाली है। इस संबंध में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कार्रवाई चल रही है।