बड़ा खुलासा : छुट्टी के दिन भी गार्ड को बुलाया, जज की पत्नी-बेटे को मार्केट भेज दिया था

New Delhi :  शनिवार को गनमैन महिपाल की छुट‍्टी थी और वह खाना खा रहा था, जब उसके बॉस एडीजे कृष्णकांत ने उसे फोन कर घर से उनकी पत्नी व बेटे को मंदिर व मार्केट ले जाने को कहा। महिपाल अभी खाने का एक टुकड़ा ही मुंह में डाला था लेकिन बीच में उठ गया। 

फोन कॉल सुनने के बाद उसने अपनी वर्दी पहनी और जज के आवास की ओर रवाना हो गया। यह सब जाहिर किया आरोपी महिपाल के मामा दान सिंह ने। उन्होंने बताया कि महिपाल जज के आधिकारिक चालक की अनुपस्थिति में बतौर ड्राइवर भी काम करता है। दान सिंह ने बताया कि जज की पत्नी और बेटे को गोली मारने के बाद महिपाल ने अपने चचेरे भाई मनोज जोिक बीएससी छात्र है को फोन किया था। उसने मनोज को कहा था कि वह उसकी मां तृप्ति के साथ दूर चला जाए क्योंकि जज की पत्नी और बेटे को गोली लगने से गंभीर चोट पहुंची है।

दान सिंह के अनुसार मनोज दो दिन पहले कोसली से गुरुग्राम स्थित महिपाल के सरकारी क्वार्टर पर गया था ताकि अपनी आंटी (महिपाल की मां तृप्ति) को कोसली ला सके। वहां वह एक दिन के लिए ठहरा था। घटना के बाद जब महिपाल ने मनोज को फोन किया था और उसने पूछा था कि क्या हुआ, तब महिपाल ने इसका कोई जवाब नहीं िदया था और फोन को काट दिया था। इसके बाद िजतनी बार भी मनोज ने फोन किया, महिपाल का फोन िस्वच ऑफ ही मिला। मनोज और तृप्ति तब कोसली के लिए आ रहे थे, जब उन्हें महिपाल का फोन कॉल आया था। उस समय वे पटौदी कस्बे में थे। दान सिंह कहते हैं, उस दिन मनोज और तृप्ति शाम को कोसली पहुंच चुके थे। महिपाल काफी नाराज था और घटना से पहले कई रातें ठीक से सो नहीं पाया था।

एक िदन वह बेहद खराब मूड में ड‍्यूटी के बाद घर आया और अपने कमरे में रोने लगा। जब उसकी मां तृप्ति ने उससे कारण पूछा तो उसने कुछ नहीं बताया था। उसने खुश होने का नाटक किया ताकि कोई भी उसकी हालत के बारे में न जान सके। महिपाल की बड़ी बेटी का 10 दिन पहले खेलते हुए हाथ टूट गया था। वह उसकी हालत को लेकर चिंतित था और कुछ दिनों की छुट‍्टी चाहता था।

The post बड़ा खुलासा : छुट्टी के दिन भी गार्ड को बुलाया, जज की पत्नी-बेटे को मार्केट भेज दिया था appeared first on Live Bavaal.