सरकार गोदामों से अनाज की चोरी रोकने के लिए जरूरी कदम उठा रही है : रामविलास पासवान

New Delhi: सरकारी गोदामों से अनाज की चोरी को रोकने के लिए सरकार ने कड़ा रूख अपनाया है। केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि एफसीआई और केंद्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी) के गोदामों से अनाज की चोरी की जांच के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं। जिसमें इलेक्ट्रॉनिक निगरानी और दोषियों के खिलाफ पुलिस कार्यवाही शामिल है।

केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि भारतीय खाद्य निगम (FCI) और CWC के गोदामों से खाद्यान्न की चोरी की जांच के लिए कदम उठाए गए हैं। इसमें बाउंड्री दीवार पर कांटेदार तार की बाड़ लगाना और गोदामों और परिसरों में लाइट का प्रावधान शामिल है।

पासवान ने कहा कि इसके साथ-साथ एफसीआई और अन्य एजेंसियों के सुरक्षा कर्मचारियों की तैनाती, सुरक्षा निरीक्षणों के साथ-साथ डिपो की औचक जांच भी शामिल की गई है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरों की स्थापना की गई है। अनुशासनात्मक कार्यवाही को बढ़ाने के लिए पुलिस द्वारा तुरन्त कार्यवाही ऐसे मामलों से निपटने के लिए अन्य महत्वपूर्ण कदम हैं ।

सरकार के इन कदमों से सरकारी गोदामों से अनाज की चोरी को रोकने में मद्द मिलेगी। देश भर में सरकारी गोदामों से भारी मात्रा में अनाज की बरबादी होती है और अनाज की चोरी भी की जाती है। सरकार के कड़े रूख के चलते लगता है अब इसपर लगाम लगाई जाएगी।

मंत्री ने कहा, 1 जून 2019 को, FCI के आकड़ो के अनुसार देश भर में 563 डिपो और गोदाम हैं। इनमें से 532 चालू हैं, जबकि शेष या तो विभिन्न कारणों से राज्य सरकारों के हवाले किए गए हैं। सीडब्ल्यूसी ने खाद्यान्न और अन्य अधिसूचित वस्तुओं के भंडारण के लिए 421 गोदामों का संचालन किया गया है।