ऑस्ट्रेलिया के पहले आम-चुनाव में मतदान जारी

New Delhi:राजनीतिक अस्थिरता से जूझ रहे ऑस्ट्रेलिया में शनिवार सुबह से पहले आम-चुनाव के लिए मतदान जारी

ऑस्ट्रेलिया के पहले आम-चुनाव में शनिवार सुबह से मतदान जारी हैं। राजनीतिक अस्थिरता से जूझ रहे ऑस्ट्रेलिया में चुनाव शांति बहाल करेगी। एक दशक में देश के चौथे नेता को बेदखल किए जाने के बाद चुनाव की घोषणा हुई थी। ऑस्ट्रेलिया में बीते एक दशक में चार प्रधानमंत्रियों को अपना पद छोड़ना पड़ा है।

ऑस्ट्रेलिया में मतदान अनिवार्य है। देश में 1.64 करोड़ मतदाता पंजीकृत हैं। पूरे देश में मतदान के लिए लगभग सात हजार मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने अपने चुनावी अभियान के लिए आर्थिक प्रबंधन का सहारा लिया है। प्रधानमंत्री रूढ़िवादी उदारवादी-राष्ट्रीय गठबंधन से जुड़े हुए हैं। उन्होंने यह अभियान इसी पार्टी के लिए चलाया है। यह पार्टी 2013 से सत्ता में है। अगर मॉरिसन चुनाव जीत जाते हैं तो वह one-man election- winning machine के रूप में जाने जाएंगे। उनकी यह जीत अकेले दम पर खड़ी की गई होगी। अगर वह हार जाते हैं तो सिर्फ चार साल में ऑस्ट्रेलिया के पास उसके चौथे प्रधानमंत्री होंगे।

ऑस्ट्रेलियाई राज्य और क्षेत्र में 6 बजे स्थानीय समय पर मतदान बंद हो जाता है। यहां हर तीन साल में प्रधानमंत्री पद के लिए मतदान होता है लेकिन 2007 के बाद से कोई भी प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सका है। ऑस्ट्रेलिया के चुनाव में अर्थव्यवस्था, बढ़ता जीवनयापन ख़र्चा, पर्यावरण और स्वास्थ्य सेवाएं मुख्य मुद्दे हैं। युवा मतदाताओं के लिए जलवायु परिवर्तन और महंगे होते घरों के किराए भी अहम मुद्दे हैं। प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन का कहना है कि उनकी सरकार एकजुटता पैदा करेगी।

विपक्ष लेबर पार्टी के नेता बिल शॉर्टन ने अपने चुनाव अभियान में बड़े नीतिगत बदलाव करने के वादे किए हैं।लिबरल-नेशनल सरकार तीसरे कार्यकाल के लिए मैदान में है।ऑस्ट्रेलियाई चुनाव हमेशा शनिवार को नियोजित की जाती है। चुनाव के पहले परिणामों की घोषणा जल्द ही होने की संभावना है।