गहलोत बोले- सचिन वापस आयेंगे तो सबसे पहले मैं उनको गले लगाऊंगा, 3 साल से गोद में उठाया है

New Delhi : राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ सचिन पायलट की बगावत से शुरू हुआ सियासी ड्रामा अब क्लाइमेक्स पर है। राजस्थान के इस पालिटिकल ड्रामे में दोनों खेमों के नेताओं के बीच शब्दबाण भी जमकर चल रहे हैं। बहरहाल राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक चैनल के इंटरव्यू में कहा – मैं कभी भी पायलट के खिलाफ नहीं रहा। राहुल गांधी भी जानते हैं जब कभी भी संसदीय बोर्ड की बैठक हुई, मैंने हमेशा युवाओं की पैरवी की। जब मैं सांसद बना था तो पायलट 3 साल के थे। हमारा उनके घर आना-जाना था। वापस आयेंगे तो सबसे पहले मैं उनको प्यार से गले लगाऊंगा। मेरा उनके प्रति बहुत स्नेह है।

इधर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और भाजपा नेता संजय जैन के खिलाफ स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने केस दर्ज किया है। कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज की गई। शेखावत ने सफाई में कहा – ऑडियो टेप में मेरी आवाज नहीं है। मैं किसी भी जांच के लिये तैयार हूं।

राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा – प्रदेश की राजनीति में जो हो रहा है, उसे शर्मनाक ही कहा जायेगा। मुख्यमंत्री का ऑफिस फेक ऑडियो के जरिये नेताओं की छवि खराब करने की कोशिश कर रहा है। केंद्रीय मंत्री को भी इस मामले में घसीटा जा रहा है।
कांग्रेस ने शुक्रवार को फेयरमॉन्ट होटल के बाहर प्रेस वार्ता की। इसमें प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा मौजूद रहे। सुरजेवाला बोले – भाजपा 25-35 करोड़ रुपये में विधायकों की निष्ठा खरीदने का प्रयास कर रहे थे। इसमें भाजपा के नेताओं की भूमिका संदेह के घेरे में है। कल शाम और आज तक जो टेप सामने आये हैं, उनसे एक बात साफ है कि भाजपा ने कांग्रेस सरकार को गिराने और विधायकों को खरीदने का प्रयास किया।

सुरजेवाला ने कहा – कोरोना से लड़ने की बजाय, भाजपा सत्ता पाने में लगी है। मध्य प्रदेश में भी ऐसा किया गया। पूरा देश कोरोना से लड़ रहा है, लेकिन वे कांग्रेस की सरकार गिराने के प्रयासों में लगे हैं। कांग्रेस के विधायक भंवरलाल और पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित किया जा चुका है। इन लोगों को कारण बताओ नोटिस भी दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four + one =