चिदम्बरम की गिरफ्तारी पर बोले जी किशन रेड्डी-ये अदालत का निर्णय,इसमें सरकार की कोई भूमिका नहीं

NEW DELHI: पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदम्बरम को INX मीडिया मामले में CBI ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी को लेकर कई नेताओं ने सरकार पर आरोप लगाते हुए इसे राजनीतिक साजिश बताया है। इन आरोपों का खंडण करते हुए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बड़ा बयान दिया है।

जी किशन रेड्डी ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा- ‘कानून अपने तरीके से काम करेगा। अदालत कानून के अनुसार निर्णय लेगी, पार्टी, सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। सराकर नहीं अदालत है जो यह तय करती है कि भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों को कहां रखा जाएगा। ‘

J&K:त्राल में क्रिकेट खेलते दिखे बच्चे,लोग बोले-‘सरकार पर पूरा भरोसा,अच्छे आदमी हैं मोदी’

INX मीडिया भ्रष्टाचार मामले में बुधवार रात चले लंबे ड्रामें के बाद पी चिदंबरम को आखिरकार सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया। इस पर उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने सरकार के ऊपर कानून विरोधी होने के आरोप लगाए हैं। लेकिन इसके अगले ही दिन कार्ति विपक्षी नेताओं के साथ जंतर मंतर पर प्रदर्शन करते दिखे। लेकिन ये प्रदर्शन का पी चिदंबरम की गिरफ्तारी से कोई लेना देना नहीं है।

दिल्ली के जंतर मंतर पर ये प्रदर्शन कश्मीर के नेताओं के लिए विपक्षी नेताओं ने बुलाया है। नेता सरकार से मांग कर रहे हैं कि जल्द से जल्द कश्मीर के नेताओं को हिरासत से मु्क्त किया जाए। इस प्रदर्शन में भारत के दक्षिण से पश्चिम तक की राजनीति के सभी विपक्षी नेता मौजूद है। इसमें भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (CPI,M) के प्रमुख सीताराम येचुरी, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद और समाजवादी पार्टी के नेता राम गोपाल यादव जैसे बड़े नेताओं के साथ ही कार्ति चिदंबरम भी इस प्रदर्शन में शामिल है।

आईएनएक्स मीडिया केस में चिदंबरम पर फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रोमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) से गैरकानूनी तौर पर मंजूरी दिलाने के लिए रिश्वत लेने का आरोप है। अभी तक चिदंबरम, 20 से ज्यादा बार गि’रफ्तारी से बच चुके हैं लेकिन इस बार उन्हें कोर्ट ने राहत नहीं दी। मामला 2007 का है, उस समय पी. चिदंबरम यूपीए-2 सरकार में वित्त मंत्री थे।