बिहार में 16-31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन – ऑटो, टैक्सी, बस और रिक्शा बंद, रेलवे और विमान सेवा जारी

New Delhi : बिहार में 16 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। मंगलवार को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस पर सहमति बनी है। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ये जानकारी दी है। पीआरडी सचिव अनुपम कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी देते हुये बताया – राज्य मुख्यालय, जिला मुख्यालय, अनुमंडल मुख्यालय, प्रखंड मुख्यालय और सूबे के सभी नगर निकायों में 16 से 31 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा।

लॉकडाउन में रेलवे और विमान सेवा जारी रहेंगी। बसों का परिचालन बंद रहेगा। ऑटो, टैक्सी और रिक्शा चलेंगी लेकिन आकस्मिक सेवा में। गृह विभाग इस संबंध में शीघ्र ही अधिसूचना जारी करेगा। फिलहाल तो खबर यह है कि बिहार गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी भी कोरोना संक्रमित पाये गये हैं। राजधानी पटना के बिहार भाजपा ऑफिस के 24 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये हैं।

मंगलवार को बिहार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया – कुल 110 लोगों का सैम्पल लिया गया था जिसमें 24 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। पटना के पीएमसीएच के डॉक्टर की कोरोना से इलाज के दौरान पटना एम्स में जान चली गई है। पीमसीएच के ईएनटी विभाग में पदस्थापित डॉक्टर एन के सिंह कुछ दिन पहले कोरोना से संक्रमित पाये गये थे। जिसके बाद उन्हें आइसोलेट कर दिया गया था। एन के सिंह की हालत बिगड़ने के बाद डॉक्टरों ने पटना एम्स रेफर कर दिया। एम्स में उनको वेंटिलेटर पर रखा गया था।

सोमवार को बिहार सरकार में ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार कोरोना संक्रमित पाये गये। वह दो दिन पहले जमालपुर विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर लौटे थे। दूसरी ओर, स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य के सभी 38 जिलों में सोमवार को 1116 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई। इसके साथ ही, राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17,421 हो गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty three + = fifty three