रतलाम के डॉक्टर्स वोट डालने वालों का फ्री में कर रहे हैं इलाज , तीन दिन में 125 लोगों का कर चुके हैं इलाज

NEW DELHI  : चुनावी समर में लोगों को मतदान का महत्व समझाने के लिए तमाम तरह के उपाय किये गए। सरकार ने विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया और लोगों से मतदान करने के लिए , घर से  निकलकर वोट देने के लिए जोरदार अपील करते हुए नज़र आई। सिर्फ सरकार ही नहीं कई लोगों ने मतदान का महत्व समझाने के लिए तरह तरह के उपाय किये है।

 

मध्य प्रदेश रतलाम के दो डॉक्टर्स तीन दिन से वोट डालने वालों का फ्री इलाज कर रहे हैं। नगर के डॉ. एस एन गुप्ता और डॉ. राजीव गुप्ता ने जागरूकता अभियान व राष्ट्र हित में अनूठी पहल की। डॉक्टर्स पूरे तीन दिनों में अब तक 125 लोगों का इलाज कर चुके हैं। डॉक्टर्स ने मरीजों का 19 मई से 21 मई तक इलाज किया है। दोनों डॉक्टर्स ने उपचार के लिए आने वाले लोगों के ऊँगली पर पहले नीला निशान देखा उसके बाद फ्री में उपचार किया और साथ ही बीमारी से संबंधित परामर्श भी दिए। डॉक्टर्स ने मरीजों को मुफ्त में दवाइयां भी प्रदान की हैं। डॉ. गुप्ता ने बताया उनका उद्देश्य लोगों को मताधिकार के लिए प्रेरित करना है।

 

पहले भी चलाये गए हैं मतदाता जागरूकता अभियान

लोकसभा चुनावों को सफल बनाने के लिए कई तरह के मतदाता जागरूकता अभियान चलए गए हैं। कई संगठनों ने लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए पेम्पलेट भी बांटें जिसका मुख्य उद्देश्य था की मतदान वाले दिन सभी घर से निकल कर वोट दें। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने पीले चावल बाँट कर मतदाताओं को जागरूक किया। कई अख़बारों ने पाठकों को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए अभियान भी चलाए।

 

स्कूल के बच्चे भी करते हैं मतदाताओं को जागरूक

 

 

स्कूल के बच्चों की उम्र का अंदाजा लगाते हुए हम समझ सकते हैं की स्कूली बच्चों के पास मतदान करने का अधिकार तो नहीं है लेकिन फिर भी जगह जगह , सड़कों पर , रैलियों में स्कूली बच्चे मतदान का महत्व समझाते दिख जाते हैं। कई स्कूल्स और कॉलेजेस मतदान जागरूकता के लिए वाद विवाद प्रतियोगिता , रंगोली , ड्राइंग कम्पटीशन का आयोजन भी करते हैं ताकी स्कूल के बच्चों के साथ साथ आमलोगों को भी जागरूक किया जा सके।