मोदी सरकार के लिए आई खुशखबरी, विदेशी मुद्री भंडार में हुई बढ़ोतरी

New Delhi: केन्द्र में नरेन्द्र मोदी की दोबारा सरकार बनने के बाद एक आर्थिक मोर्चे पर सरकार को लगातार बुरी खबरों का समना करना पड़ रहा था पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के ताजा आंकड़ों जारी करने के बाद एक अच्छी खबर सामने आई है। देश के विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़ोतरी हुई है। 31 मई को समाप्त सप्ताह में यह 1.875 अरब डॉलर बढ़कर 421.867 अरब डॉलर हो गया।

देश में पीएम मोदी की दूसरी बार सरकार बनने के बाद विदेशी मुद्रा भंडार में यह पहली वृद्धि है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को आंकड़े जारी कर बताया कि 31 मई को समाप्तड हुए सप्ताीह के दौरान देश का विदाशी मुद्रा भंडार 1.875 अरब डॉलर बढ़कर 421.867 अरब डॉलर पर पहुंच गया। 24 मई को समाप्त हुए सप्ताह में भी विदेशी मुद्रा भंडार में 1.99 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई थी। इस बढ़त साथ यह 419.99 अरब डॉलर हो गया था।
पिछले साल भारत में विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड स्तर पर था । 13 अप्रैल, 2018 को में विदेशी मुद्रा भंडार ने अपना रिकॉर्ड स्तर 426.028 अरब डॉलर छुआ था। बाद में इसमें गिरावट दर्ज की गई थी। इस साल फरवरी में फिर से विदेशी मुद्रा भंडार 2 अरब डॉलर बढ़कर 400 अरब हो गया था।
विदेशी मुद्रा भंडार, किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों ,सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार भी कहा जाता है।