13 साल से नंबर 1- मुकेश अंबानी ने फिर गाड़े झंडे, देश के नंबर वन अमीर, अडानी दूसरे नंबर पर

New Delhi : रिलायंस इंडस्ट्रीज की तरक्की पूरी दुनिया देख रही है। दिनों दिन मुकेश अंबानी की दौलत बढ़ती ही जा रही है। एकबार फिर से वे फोर्ब्स अमीरों की लिस्ट में पहली नंबर पर हैं। पिछले तेरह साल से भारत के अमीरों की लिस्ट में उन्हें नंबर एक से कोई नहीं हटा सका है। और पिछली साल की तरह इस साल भी दूसरे नंबर पर गौतम अडानी ही हैं। यानी एक तरह से भारत की अकूत संपत्ति में से एक बड़े हिस्से पर अंबानी-अडानी का कब्जा बरकरार है। एचसीएल से खूब नाम कमा चुके शिव नाडर अब अलग-अलग बिजनेसे मॉड‍्यूल से भी पैसे बना रहे हैं। वे भारत के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर बरकरार हैं।

इस अमीरों की लिस्ट में सीरम इंस्टीच्यूट के सायरस पूनावाला ने इंट्री मारी है। इसके अलावा आठ और दौलतमंदों ने भी फोर्ब्स लिस्ट में इंट्री मारी है। इस लिस्ट में हैरान करनेवाली बात यह है कि पिछले एकसाल में जब देश का हर आदमी दाने-दाने को पाने में संघर्ष कर रहा है अपने देश के सौ पहले दौलतमंदों की दौलत में औसतन 14 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। इस लिस्ट के दौलतमंदों की दौलत में एक साल में करीब 518 बिलियन डॉलर। यह करीब 37 लाख करोड़ रुपये है। इसको जोड़ने के लिये बहुत मशक्कत की लेकिन रुपये में इसकी काउंटिंग संभव नहीं हो पा रही। सरकार की ओर से कॉरपोरेट टैक्स को 35 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी किये जाने से अमीरों की नेट वेल्थ में यह इजाफा हुआ है।
फोर्ब्स इंडिया के सौ सबसे ज्यादा दौलतमंदों की इस लिस्ट में केवल तीन महिलायें शामिल हैं। इसमें ओपी जिंदल ग्रुप की सावित्री जिंदल 19वें स्थान पर हैं। बायोकॉन की किरन मजूमदार शॉ 27वें स्थान पर हैं। मेडिसिन निर्माण से जुड़ी यूएसवी की लीना तिवारी 47वें स्थान पर हैं। कोरोना की वैक्सीन के निर्माण से जुड़े सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ साइरस पूनावाला की कुल धन संपदा 11.5 बिलियन डॉलर आंकी गई है। इसकी बदौलत पूनावाला टॉप-10 में एंट्री करते हुए छठे स्थान पर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventy eight − 70 =