पहले बेचे गहने, अब एक्ट्रेस नुपुर पैसे-पैसे को मोहताज, रेणुका शहाणे ने कहा- प्लीज इसकी मदद करो

New Delhi : स्वरागिनी, इस प्यार को क्या नाम दूं, दीया और बाती हम, अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो और घर की लक्ष्मी बेटियां जैसे टीवी सीरियलों में नाम कमा चुकीं टीवी एक्ट्रेस नुपुर अलंकार बहुत खराब स्थिति में हैं। ऐसी स्थिति कि अपने दोस्तों से हजार दो हजार रुपये उधार लेकर किसी तरह जीवन बसर कर रही हैं। नुपुर आर्थिक तंगी से गुजर रही हैं। उनकी दोस्त रेणुका शहाणे ने एक फेसबुक पोस्ट में इस बात का जिक्र करते हुए लोगों से नुपुर की आर्थिक मदद करने की अपील की है।
रेणुका ने फेसबुक पर लिखा- मेरी प्यारी दोस्त और एक्ट्रेस, नुपुर अलंकार इन दिनों आर्थिक परेशानियों का सामना कर रही हैं क्योंकि दुर्भाग्य से उनका सारा पैसा पीएमसी बैंक में फंस गया है। नुपुर अपनी बीमार मां की देखभाल कर रही हैं, जिसके लिये वह एक्टिंग और आल्टरनेट थेरेपी के जरिये पैसे कमा रही थीं। लॉकडाउन की वजह से उनका काम बंद हो गया।

A very dear actress friend of mine, Nupur Alankar has been facing a lot of financial problems due to all her money…

Posted by Renuka Shahane on Tuesday, June 9, 2020

रेणुका ने लिखा है – उनकी मां को अस्पताल में एडमिट करने की जरूरत है। मैं उनकी मां के अकाउंट डिटेल शेयर कर रही हूं। आपसे जो भी हो सके मदद करें। मेरा भरोसा करें कि जब तक जरूरत नहीं होगी नुपुर किसी से मदद नहीं मांगेंगी, लेकिन हालात ऐसे हो गये हैं। धन्यवाद।
रेणुका ने इसके साथ अकाउंट डिटेल भी शेयर किये। इस पोस्ट पर नुपुर ने रेणुका को धन्यवाद देते हुए उन्हें एंजल कहा। इससे पहले पिछले साल नुपुर ने एक इंटरव्यू में बताया था – पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक पर लेनदेन समेत कई तरह के प्रतिबंध लगने के बाद उनके पैसे फंस गये क्योंकि उनके अकाउंट इसी बैंक में हैं।
नूपुर ने बातचीत में बताया – घर में पैसे न होने और बैंक अकाउंट्स फ्रीज होने की वजह से मेरे पास ज्वैलरी बेचने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा। यहां तक कि मैंने अपने एक साथी एक्टर से 3000 हजार रुपये लिये। अब तक दोस्तों से 50 हजार रुपये उधार ले चुकी हूं।
24 सितंबर 2019 को रिजर्व बैंक ने पीएमसी को नोटिस जारी कर प्रतिबंध लगा दिया था। यह प्रतिबंध बैंक में 4,355 करोड़ रुपये से अधिक की वित्तीय अनियमितता को देखते हुए लगाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty seven − = eighty five