वायुसेना के अगले चीफ राकेश भदौरिया के नाम पर रखी गई भारत के पहले राफेल की टेल संख्या

New Delhi : भारतीय वायुसेना को फ़्रांस से पहला राफेल विमान मिल गया है। इस पहले राफेल विमान की टेल (पूँछ) संख्या RB-01 को भारत के अगले होने वाले एयरचीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया के नाम पर रखी गई है। भारतीय वायुसेना को गुरुवार को पहला राफेल विमान मिल चुका है। राफेल विमान बनाने वाली कंपनी दसॉ एविएशन ने भारतीय वायुसेना को विमान सौंपा है। वायुसेना के डिप्टी चीफ एयर मार्शल वीआर चौधरी ने 1 घंटे राफेल में उड़ान भी भरी।

बता दें कि राफेल फाइटर जेट लेने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ अगले महीने पेरिस रवाना होने वाले हैं। भारतीय वायु सेना अब जल्द ही 36 राफेल फाइटर जेट से उड़ान भरेगी। फ्रांस के एक समारोह में भारत को राफेल फाइटर जेट सौंपे जाएंगे। इस समारोह में फ्रांस के शीर्ष सैन्य बल के साथ-साथ डसॉल्ट एविएशन के वरिष्ठ अधिकारी, राफेल के निर्माता भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

राफेल डील को लेकर लोकसभा चुनाव 2019 में राजनीतिक हलचल मच गई थी। कांग्रेस ने इस डील को लेकर भाजपा सरकार को सियासती मैदान में पटखनी देने की काफी कोशिश की गई थी। कांग्रेस ने विमान की दरों और कथित भ्रष्टाचार सहित इस सौदे के बारे में कई सवाल उठाए थे। लेकिन सरकार हमेशा से इन आरोपों को खारिज करती आई है।

गौरतलब है कि भारत ने सितंबर 2016 में फ्रांस के साथ लगभग 58,000 करोड़ रुपये की लागत से 36 राफेल फाइटर जेट्स की खरीद के लिए एक अंतर-सरकारी समझौता किया था। यह विमान कई शक्तिशाली हथियारों और मिसाइलों को ले जाने में सक्षम है। भारतीय वायुसेना ने लड़ाकू विमान का स्वागत करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। आवश्यक बुनियादी ढाँचे और पायलटों के प्रशिक्षण सहित सभी पर काम खत्म कर लिया गया है।