फखर जमान—पाकिस्तान की तरफ से वन डे में दोहरा शतक जड़ने वाला अकेला बल्लेबाज

NEW DELHI :पाकिस्तान,एक ऐसी टीम जो क्रिकेट में हमेशा से ही अपने बॉलिंग अटैक के लिए जानी जाती रही है। टीम में हमेशा से ही तेज गेंदबाजों का बोलबाला रहा है।
फिर चाहे वो स्विंग का सुलतान माने जाने वाले वसीम अकरम रहे हों,रिवर्स के उस्ताद वक़ार युनिस रहे हों,दूसरा फेंकने के माहिर शकलैन मुश्ताक़ रहे हों,या फिर रफ़्तार के सौदागर शोएब अख्तर।

पकिस्तान के खिलाफ खेलने वाली टीमें हमेशा से इन बोलरों का नाम सुनकर ख़ौफ़ज़दा होती रहीं हैं।
हालिया वक्त में भी टीम के पास मुहम्मद आमिर और वहाब रियाज जैस विश्वस्तरीय तेज गेंदबाज हैं। पर हमेशा से ही तेज गेंदबाजों की टीम मानी जाने वाली टीम में एक ऐसा बल्लेबाज भी है,जिसने पकिस्तान की तरफ से वन डे मैच में दोहरा शतक लगाने का कारनामा किया है।

यहाँ पर बात की जा रही है फखर जमान की। जिसके नाम पर पकिस्तान का अकेला ऐसा बैट्समैन होने का रिकॉर्ड दर्ज है,जिसने वन डे मैच में दोहरा शतक जड़ा हो। फखर ज़मान बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और अपनी टीम के लिए ओपनिंग करते हैं।

फखर से पहले वन डे मैच में हाइएस्ट स्कोर का रिकॉर्ड सईद अनवर के नाम था। अनवर ने 1997 में भारत के खिलाफ खेलते हुए 194 रनों की पारी खेली थी। यह वन डे क्रिकेट में किसी भी खिलाड़ी के द्वारा खेली गयी सबसे बड़ी पारी थी। अनवर के इस रिकॉर्ड को सचिन तेंदुलकर ने 2010 में क्रिकेट के इतिहास का पहला दोहरा शतक लगते हुए तोड़ा था।

फखर जमान ने पिछले साल जिम्बाम्वे के खिलाफ खेलते हुए 210 रनों की शानदार पारी खेली थी। अपनी इस लाज़वाब पारी के दौरान ज़मान ने केवल 156 गेंदों का सामना करते हुए 24 शानदार चौकों और 5 गगनचुम्बी छक्कों से अपनी पारी को सजाया। 2017 में भी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में फखर मैन ऑफ़ द मैच रहे थे।

फखर से पहले सचिन तेंदुलकर,वीरेंद्र सहवाग,रोहित शर्मा,क्रिस गेल,और मार्टिन गुप्टिल भी वन डे मैच में दोहरा शतक लगाने का कारनामा कर चुके हैं। उम्मीद है की इस वर्ल्ड कप में भी फखर ज़मान की ओर से हमें कुछ लाजवाब परियां देखने को मिलेगी।