देवेन्द्र फडणवीस ने राज्यपाल को सौंपा अपना इस्तीफा, 80 घंटे तक रहे मुख्यमंत्री

New Delhi : महाराष्ट्र में पिछले एक महीने से चल रहे राजनीतिक घमासान देवेन्द्र फडणवीस के इस्तीफे से साथ ही खत्म होता नजर आ रहा है। देवेन्द्र फडणवीस ने राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को अपना इस्तीफा सौंपा। देवेन्द्र फडणवीस शपथ लेने के मात्र 80 घंटे ही मुख्यमंत्री रहे।

इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में देवेन्द्र फडणवीस ने कहा कि जो भी सरकार बना रहे हैं, उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने आगे कहा कि ये जनादेश राज्य की जनता ने बीजेपी को दिया था। हमने शिवसेना से ढाई साल के सीएम पद देने का कोई वादा नहीं किया था।

मीडिया को संबोधित करते हुए फडणवीस ने कहा कि बीजेपी ने पहले ही कहा था कि हॉर्स ट्रेडिंग नहीं करेंगे। हम पर जो हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप लगाते हैं उन्होंने तो सत्ता के लिए पूरा अस्तबल ही खरीद लेते हैं। उन्होंने आगे कहा कि अजित पवार ने मुझसे मिलकर कहा कि वह इस सरकार में बने नहीं रह सकते और उन्होंने मुझे इस्तीफा दिया। उनके इस्तीफा देने के बाद बहुमत के लिए जितने विधायक BJP को चाहिए उतने हमारे पास नहीं है। इसके बाद मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया।

इससे पहले शनिवार को पद संभालने वाले अजित ने तीन दिन बाद ही सीएम देवेंद्र फडणवीस को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

वहीं राकांपा नेता जयंत पाटिल ने बालासाहेब थोराट को प्रो -टेम अध्यक्ष बनाने की मांग की है। मीडिया से बात करते हुए राकांपा नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि राज्यपाल हमारी बात सुनेंगे और सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य, प्रो-टेम अध्यक्ष, बालासाहेब थोराट को बनाएंगे। वहीं अजित पवार के इस्तीफे उन्होंने कहा कि मुझे मीडिया से अजीत पवार के इस्तीफे के बारे में पता चला है। मैं इसके बारे में नहीं जानता, मैं इसके बारे में सब कुछ जानने के बाद ही इस पर कोई टिप्पणी करना चाहूंगा।