साधारण में असाधारण सफलता- सिंगिग-एक्टिंग में गाड़े झंडे, सफल कैसे बनना है ये आयुष्मान से सीखें

New Delhi : बॉलीवुड का एक वेल लुकिंग एक्टर जो एक्टिंग के साथ ही सिंगर भी है, वो गाने भी लिखता है उन्हें कंपोज भी खुद करता है इतना ही नहीं अपनी खनखनाती आवाज के दम पर उसे लोगों को मोहना भी आता है। इस मल्टी टेलेंटेड एक्टर का नाम है आयुष्मान खुराना। लोग अक्सर सोचते हैं इतना टेलेंट है तो बंदा हीरो तो बन ही जाएगा, लेकिन अक्सर लोगों की सोच वहां तक नहीं जा पाती जहां उस व्यक्ति ने अपने इस हुनर को विकसित करने का तर्जुमा हासिल किया। उसे अपने हुनर को पहचानने और फिर उसे लगातार निखारने में कितनी मेहनत लगी इस पर बात नहीं हो पाती। आयुष्मान ने अपने अपने अंदर छिपी सभी खूबियों से प्यार किया।

उन्हें धीरे धीरे और मजबूत बनाया और इतना निखार लिया कि आज अगर वो अपने एक हुनर से मार भी खाते हैं तो किसी दूसरे जरीए से वो अपना फेम बरकरार रख सकें। उनकी इसी खूबी ने एक साधारण से लड़के को आज बॉलीवुड में सुपरस्टार बना दिया।
आयुष्मान खुराना मूल रूप से पंजाब के अमृतसर के रहने वाले हैं। यहीं उनका जन्म हुआ, यहीं वो पले-बढ़े और शुरूआती पढ़ाई से लेकर आगे तक की पढ़ाई भी उन्होंने यहीं से की। मां-बाप को शादी के काफी साल बाद आयुष्मान के रूप में कोई बच्चा मिला इस कारण आयुष्मान परिवार में बड़े लाड़-प्यार से पले। मां बाप के अच्छे पढ़े लिखे होने के कारण उनकी पढ़ाई पर खास ध्यान दिया गया। आयुष्मान ने जो करना चाहा इसकी उन्हें परिवार से आजादी थी। वो एक मध्व वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं, जहां जिंदगी जीने का गुजारा तो हो जाता है लेकिन बड़े सपने पूरे हों इसकी गारंटी नहीं होती। यही आयुष्मान के साथ भी हुआ। उन्हें बचपन से एक्टिंग का शौक था और वो अपने आपको फिल्मों में काम करता हुआ देखना चाहते थे। लेकिन बॉलीवुड में बिना किसी गॉड फादर के एंट्री मारना आसान बात नहीं है इसे आसान बनाया आयुष्मान के मजबूत इरादों और उनकी मेहनत ने।

View this post on Instagram

Happy birthday Ma ❤️

A post shared by Ayushmann Khurrana (@ayushmannk) on

स्कूल टाइम से ही वो छोटे मोटे प्ले करने लगे थे जो कि कॉलेज में थियेटर ग्रुप तक पहुंच गए। कॉलेज टाइम में उन्होंने पढ़ाई के साथ ही थियेटर में खूब समय दिया। इससे उन्हें अपने अंदर की कमियों को निखारने का मौका मिला। उन्हें ये पता था कि उनके पास एक खूबसूरत आवाज है जिसे उन्होंने निखारने के लिए अपने बोलने के लेहजे पर काम किया। आज जब आयुष्मान एक्टिंग करते हैं तो उनकी यही कला सबको सबसे ज्यादा पसंद आती है। इसी दौरान उन्होंने अपनी बॉडीलेंग्वेज पर काम किया इसके साथ ही वो लिखने में भी निपुण थे। कहानी कविताएं वो स्कूल टाइम से लिखते थे। अपनी पढ़ाई करने के बाद उन्होंने 5 सालों तक थियेटर किया। इसके बाद उन्होंने छोटे मोटे इवेंट्स को कॉलेज फेस्ट के लिए ऑर्गनाइज और उनमें पर्फोर्म करने का काम शुरू कर दिया लेकिन अब तक उन्हें पहचान नहीं मिल पाई थी।

आयुष्मान को अब अपने हुनर पर भरोसा हो गया था। अब उन्होंने रियेलिटी शो में ऑडिशन देना शुरू किया। आयुष्मान खुराना परहली बार 19 साल की की उम्र में चैनल वी के रियलिटी शो, पॉपस्टार्स में नज़र आये। वो इस शो के सबसे कम उम्र के प्रतियोगियों में से एक थे। ये 2002 का समय था। यहां से उन्हें थोड़ी सी पहचान मिली। इसके बाद 20 साल की उम्र में उन्होंने एमटीवी रोडीज के दूसरे सीज़न में भाग लिया था, और अंत में इसके विजेता बने। यहां से वो सबकी नजरों में आए। अब उन्हें छोटे मोटे शो मिलने लगे। इसके बाद रेडियो मिर्ची पर उन्हें रेडियो जॉकी के रूप में नौकरी मिली। लेकिन वो यहां से निकल कर वीडियो लाइन में दोबारा आ गए। अब वो एंकरिंग करने लगे। एंकर के तौर पर उन्होंने इंडियाज़ गॉट टैलेंट, म्यूजिक का महा मुकाबला और मैक्स पर इंडियन प्रीमियर लीग के तीसरे संस्करण में एंकरिंग की। आयुष्मान की पहली फिल्म विकी डॉनर थी।

इतने स्ट्रगल कर और इनता तप कर वो पहली बार वो किसी फिल्म में आए थे यही कारण था कि लोगों को लगा कि वो कितने सालों से फिल्में कर रहे हैं। इस फिल्म से वो लोगों के दिलों पर छा गए। इस फिल्म में ही उन्होंने खुद गाना भी गाया जो कि उनका ही लिखा हुआ था। इसके बाद तो आयुष्मान एक से एक हिट फिल्म देते गए। उनकी एक्टिंग को लोगों ने खूब पसंद किया और जल्दी ही वो एक सुपरस्टार एक्टर में शुमार हो गए। आज उनका नाम हाईली पेड एक्टर में गिना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 3 = three