जीवन में सब संभव है, आप शुरूआत तो कीजिए

New Delhi : आपके भीतर अगर कुछ करने की सच्ची चाह है तो ना तो आपकी परिस्थितियां आपको रोक सकती हैं और ना ही दुनिया का दूसरा कोई इंसान ऐसा कर सकता है। इस बात का उदाहरण पूरी दुनिया के सामने पेश किया डा.एपीजे अब्दुल कलाम ने जिन्होंने गरीबी से निकल कर एक महान वैज्ञानिक और भारत के 11 वें राष्ट्रपति बनने का सफर अपनी इसी इच्छाशक्ति से पूरा किया। आप भी अपने सपनों को हासिल कर सकें इसके लिए आज हम आपको रूबरू कराने जा रहे हैं भारत के मिसाइल मैन के विचारों से तो चलिए जाने उनके कुछ प्रेरक विचार-


1. इंतजार करने वाले को उतना ही मिलता हैं, जितना कोशिश करनेवाले छोड़ देते हैं। 2. जिस दिन हमारे सिग्नेचर ऑटोग्राफ में बदल जायें, उस दिन मान लीजिये आप कामयाब हो गये।
3. निपुणता एक सतत प्रक्रिया है कोई दुर्घटना नहीं। 4. मनुष्य के लिए कठिनाइयाँ बहुत जरुरी हैं क्योंकि उनके बिना सफलता का आनंद नहीं लिया जा सकता। 5. अपने कार्य में सफल होने के लिए आपको एकाग्रचित होकर अपने लक्ष्य पर ध्यान लगाना होगा। 6. मुझे पूरा यकीन है कि जब तक किसी ने नाकामयाबी की कड़वी गोली न चखी हो, वो कायमाबी के लिए पर्याप्त महत्वाकांक्षा नहीं रख सकता। 7. आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते, लेकिन अपनी आदतें बदल सकते है और निश्चित रूप से आपकी आदतें आपका भविष्य बदल देंगी। 8. बारिश के दौरान सारे पक्षी आश्रय की तलाश करते है, लेकिन बाज बादलों के ऊपर उड़कर बादलों को ही अवॉयड कर देते हैं। समस्यायें कॉमन है, लेकिन आपका एटीट्यूड इनमें डिफरेंस पैदा करता हैं। 9. छोटा लक्ष्य अपराध हैं महान लक्ष्य होना चाहिये। 10. सपने वो नहीं है जो आप नींद में देखे, सपने वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे।