डॉक्टरों की गलती की वजह से दुनिया में हर साल 26 लाख लोग अपनी जान गंवा देते हैं

New Delhi: विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों से एक बहुत ही चौंकाने वाली बात का पता चला है। इन आंकड़ों की माने तो हर साल 13.8 करोड़ से ज्यादा लोगों को हर साल डॉक्टरों की गलती की वजह से नुकसान पहुंचता है। सिर्फ इतना ही नहीं हर साल 26 लाख इस वजह से हर साल अपनी जान गंवा देते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार ऐसा तीन वजहों से होता है या तो जांच में गलती के कारण, दवाई देने में गलती या फिर इलाज में गलती होने से। इस बारे में विशेषज्ञों का मानना है कि इस तरह की ग​लतियां होती हैं क्योंकि हेल्थकेयर सिस्टम को इन गलतियों से ठीक तरह से निपटने और सीख लेने के लिए डिजाइन नहीं किया गया। इस दौरान उन्होंने इस बात को भी माना कि कई मेडिकल सुविधाएं इस बात को छुपाती हैं कि वो गलत हैं जो उन्होंने आगे ये गलतियां दोबार ना करने से रोकती हैं।

विश्व ​स्वास्थ्य संगठन के शनिवार को दिए गए आंकड़ों में मध्यम और निम्न आय वाले देशों को ही देखा गया। इन देशों में दु​निया की 80 प्रतिशत आबादी रहती है। इस तरह से असल संख्या इससे कहीं ज्यादा हो सकती है। यहां तक की विकसित देशों में भी हर 10 में से 1 मरीज मेडिकल गलतियों का शि’कार है।

एक जनेवा स्थि​त संगठन के मुताबिक इन गलतियों का कारण अस्पतालों में सही हेरारकी सिस्टम का ना होना, कर्मचारियों के बीच आपस में संचार का ना होना है। अगर सिर्फ दवाईयों के प्रिसक्रिप्शन से संबंधित गलतियों की ही बात करें तो इससे ही 42 बिलियन डॉलर के बराबर नुकसान होता है।