इंग्लैंड बड़प्पन दिखाते हुए वर्ल्ड कप ट्रॉफी को न्यूजीलैंड के साथ शेयर करे : शिवराज

New Delhi: 2019 वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। मैच टाई रहा था। जिसके बाद दोनों ही टीमों ने सुपर ओवर खेला। सुपर ओवर में भी दोनों ही टीमों के रन बराबर थे। जिसके बाद इंग्लैंड की टीम को मैच में ज्यादा चौके लगाने की वजह से विजेता घोषित कर दिया गया। इंग्लैंड की टीम ने पूरे मैच के दौरान 22 चौके प्राप्त करने में सफल रही थी। न्यूजीलैंड की टीम 17 बार ही गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजने में सफल हो सकी थी।

ICC के इस नियम पर कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स ने सवाल खड़ा किया था। इसी कड़ी में मध्य-प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता ने इस नियम पर सवाल खड़ा किया। शिवराज ने अपने एक ट्वीट में लिखा कि – “ICCWorldCup2019 फाइनल मैच में दोनों टीमों ने दिल जीत लेने वाला खेल दिखाया, लेकिन ज़्यादा चौकों के आधार पर इंग्लैंड को विजयी घोषित करना न्यूजीलैंड के साथ अन्याय है। ऐसे नियम खत्म हों और इंग्लैंड बड़प्पन दिखाते हुए वर्ल्ड कप ट्रॉफी को न्यूजीलैंड के साथ शेयर करे”।

इस विवादित नियम पर क्रिकेट के भगवान् कहे जान वाले सचिन ने भी सवाल खड़ा किया था। सचिन ने कहा था कि फाइनल मैच में जैसी स्थिति थी उसमें विजेता का फैसला ज्यादा बाउंड्री से करने की बजाय एक और सुपर ओवर कराना चाहिये था।

सचिन ने कहा था मुझे लगता है कि दोनों टीमों की बाउंड्री पर विचार करने के बजाय एक अन्य सुपर ओवर से विजेता का फैसला होना चाहिए था। केवल विश्व कप फाइनल ही नहीं, प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है। जिस तरह से फुटबाल में जब टीमें अतिरिक्त समय में जाती है तो पूर्व का खेल कुछ मायने नहीं रखता।