आर्थिक मंदी पर बोले रघुराम राजन- ‘सरकार को मजबूत फैसले लेने की जरूरत है’

भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन देश की अर्थव्यवस्था में जारी सुस्ती को लकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि देश की अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए बड़े कदम उठाने की जरूरत है।

 

गौरतलब है कि देश की अर्थव्यवस्था इस वक्त बु’रे दौर से गुजर रही है। हाल ही ऑटोमोबाइल सेक्टर में हजारों नौकरियां जा चुकी हैं। साथ ही तमाम उद्योग बंद होने की कगार पर हैं।

भारत की अर्थव्यवस्था को सं’कट से बाहर निकालने के लिए रघुराम राजन ने कुछ एक इंटरव्यू में  कहा कि हमें ऐसे सुधारों की जरूरत है, जो निजी क्षेत्र को निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करता है। हमें क’ठो’र कदम उठाने होंगे ताकि भारतीय बाजार, लोगों और कारोबार को प्रोत्साहित कर सकें।

उन्होंने कहा कि हमें कहा कि आज की वैश्विक मं’दी की तुलना अगर 2008 के वित्तीय सं’क’ट से की जाए तो आज दुनियांभर के बैंको की स्थिति बेहतर है।उन्होंने कहा कि वह 2008 की तरह एक और वित्तीय संक’ट की भविष्यवाणी तो नहीं कर सकते हैं लेकिन अगर यह आता है तो इसके कई स्रोत होंगे। उन्होंने कहा है कि सरकार को तुरंत एनर्जी सेक्टर और नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों की समस्या का हल निकालना होगा।

गौरतलब है कि देश में आर्थिक मंदी लगातार गहराती चली जा रही है जिसके चलते लोगों की नौकरी जा रही है और वित्तीय सं’क’ट का ख’त’रा गहरा रहा है।

हाल ही में ऑटोमोबाइल सेक्टर में गई हजारों नौकरियां चिं’ता का विषय है।तमाम कंपनियाों की हालत भी ख’स्ता है।ऐसे में सरकार को इस समस्या से उबरने के लिए मजबूत कदम उठाने की ज़रूरत है।

kaushlendra

सामाजिक और राजनीतिक विषयों पर लिखने में दिलचस्पी है।गांधी जी का फैन हूँ।समाज में जागरुकता लाना उद्देश्य है।पत्रकारिता मेरा प्रोफेशन है,जुनून है और प्यार भी है।
kaushlendra