करो तैयारी 84 कोसी परिक्रमा की : श्रीराम वन गमन, चित्रकूट-मैहर 375 किमी एक्सप्रेस-वे चरम पर

New Delhi : केंद्र सरकार भगवान श्रीराम की जन्म स्थली अयोध्या को अन्य धार्मिक-तीर्थ स्थलों से जोड़ने के लिये एक्सप्रेस-वे सड़क निर्माण का काम तेजी से कर रही है। अयोध्या से चित्रकूट-मैहर रामवन गमन और विश्व प्रसिद्ध अयोध्या की सांस्कृतिक सीमा 84 कोसी परिक्रमा परियोजना 85 फीसदी पूरी कर ली गई है। वहीं, दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस-वे परियोजना वैष्णो देवी भक्तों की राह आसान करेगी। सरकार 1,225 किलोमीटर लंबी धार्मिक सड़क कनेक्टिविटी पर एक लाख 5 हजार करोड़ से अधिक निवेश करेगी।

सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया – रामवन गमन परियोजना में अयोध्या से मैहर वाया चित्रकूट तक 375 किलोमीटर दो लेन-चार लेन राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण किया जा रहा है। इसमें अयोध्या से चित्रकूट के बीच कई स्थानों पर राज्य राजमार्ग थे, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने उन्हें राष्ट्रीय राजमार्ग का दर्जा देकर विकसित कर दिया है। 2018 में शुरू हुई परियोजना का 85 फीसदी निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। इस परियोजना पर 300 करोड़ रुपये से अधिक निवेश किया जाएगा।
रामवन गमन योजना का रूट : टू लेन/फोर लेन राष्ट्रीय राजमार्ग की शुरुआत प्रतापगढ़ के मोहनगंज से शुरू होगी। राजमार्ग जेठवारा, कन्हैयापुर, त्रिलोकपुर, श्रृंगवेरपुर, इलाहाबाद बाईपास, कौशांबी से होते हुए चित्रकूट से मैहर तक विकसित किया जा रहा है। सरकार अयोध्या की सांस्कृतिक सीमा 84 कोसी परिक्रमा को टू लेन राष्ट्रीय राजमार्ग कनेक्टिविटी, सौंदर्यीकरण करने का काम कर रही है। जगह-जगह श्रद्धालुओं के लिए जनसुविधाएं होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

86 + = eighty seven