वेल्लोर लोकसभा सीट पर DMK ने किया कब्ज़ा, काथिर आनंद ने शनमुगम को 8,141 वोटों से दी मात

New Delhi : तमिलनाडु के वेल्लोर लोकसभा सीट के उपचुनाव के DMK के काथिर आनंद और AIADMK के एसी शनमुगम के बीच काँटे की टक्कर देखने को मिली। वेल्लोर लोकसभा उपचुनाव में DMK के वरिष्ठ नेता दुरई मुरुगन के बेटे कथीर आनंद ने AIADMK के एसी शनमुगम को 8,141 वोटों के अंतर हरा दिया है।

उपचुनाव की मतगणना के शुरुआती पांच राउंड में AIADMK के एसी शनमुगम आगे चल रहे थे। लेकिन छटवें राउंड से DMK के काथिर आनंद बढ़त ली थी। DMK ने 4,85,340 वोटों के साथ जीत हासिल की, जबकि AIADMK को 4,77,199 वोट मिले। हालांकि, AIADMK के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी का वोट शेयर बरकरार है।

DMK की जीत का श्रेय इस निर्वाचन क्षेत्र में चलाए जा रहे भाजपा-विरोधी अभियानों को दिया जा सकता है। इस लोकसभा उपचुनाव में टीटीवी दिनाकरन की अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम (एएमएमके) और कमल हासन की मक्कल नीडि मैम ने चुनाव नहीं लड़ा था ।

चुनाव में पैसों के अत्यधिक उपयोग पर और द्रमुक उम्मीदवार के गोदाम से बड़ी मात्रा में नकदी जब्त होने के बाद चुनाव आयोग ने वेल्लोर उपचुनाव के फैसले को रद्द कर दिया था। मुरुगन परिवार के स्वामित्व वाले कॉलेज से अवैध रूप से नकदी ले जाने की सूचना के आधार पर, वेल्लोर के एक सीमेंट गोदाम में एक अप्रैल को दूसरी आईटी तलाशी ली गई थी जिसमे 11.53 करोड़ रुपये जब्त किए गए थे ।

अप्रैल में चुनावों के लिए गए 38 निर्वाचन क्षेत्रों में से, DMK ने चुनावों में भाग लिया और 37 सीटें जीतीं, AIADMK ने एक अकेला सांसद प्राप्त करने का प्रबंधन किया।