दिगम्बर अखाड़े ने कम्प्यूटर बाबा को दिखाया बाहर का रास्ता, कुंभ मेले का नहीं बन पायेंगे हिस्सा

New Delhi:  मध्य प्रदेश चुनाव के शुरू होने से पहले आ रही खबरों से राजनीति गलियारों में शोर मचा हुआ हैं। हाल में खबर सामने आई थी, कि  मध्य प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त नामदेव दास त्यागी अपने पद से इस्तीफा दे दिया हैं। नामदेव दास त्यागी Computer Baba के नाम से मशहूर हैं।  जिसके बाद उन्होंने 1 अक्टूबर को अपने पद से इस्तीफा दे दिया और इससे बीजेपी को जोरदार झटका सहना पड़ा। लेकिन अब खबर आ रही हैं कि अखिल भारतीय श्री पंच दिगम्बर अनी अखाड़ा ने बैठक में कम्प्यूटर बाबा को निष्कासित कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, अखिल भारतीय श्री पंच दिगम्बर अनी अखाड़ा की बैठक में Computer Baba के ऊपर निजी स्वार्थ के लिए काम करने का आरोप लगा, जिसमें कहा गया कि व संतों की छवि खराब कर रहे है। काफी समय तक इस पर चर्चा हुई और बाद में उन्हें अखाड़े से निकाल दिया गया। अखाड़े से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद अब कंप्यूटर बाबा यूपी के प्रयागराज में होने वाले कुंभ में शामिल नहीं हो पायेंगे।

Computer Baba

आपको बता दें कि हाल ही में कंप्यूटर बाबा ने ग्वालियर में संतों के ‘मन की बात’ नाम से एक कार्यक्रम आयोजन किया था। इसमें संतों के सामने उन्होंने सरकार के विरोध में उतरने का ऐलान किया था। राज्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद उन्होंने शिवराज सरकार पर कई आरोप लगाए थे।

उन्होंने कहा कि सरकार ने गायों के लिए क्या किया। प्रदेश में गाये मर रही हैं, सरकार कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से कई बार नर्मदा में अवैध उत्खनन रोकने के बारे में कहा पर उनकी बात पर कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि सरकार भविष्य में गायों के लिए क्या करेगी ये बात मायने नहीं रखती। मुख्यमंत्री ये बताएं कि अभी तक उन्होंने गायों के लिए क्या किया। इसके अलावा, उन्होंने नर्मदा मंत्रालय बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी की स्थिति अच्छी नहीं है। इसके लिए एक मंत्रालय होना जरूरी है।