जनधन खातों में अब तक जमा हुये 1 लाख करोड़ रूपये : वित्त मंत्रालय

New Delhi : मोदी सरकार द्वारा पांच साल पहले शुरू की गई जनधन योजना के बैंक खातों में अब तक 1 लाख करोड़ रूपये जमा किये जा चुके है। नवीनतम वित्त मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, कुल 36.06 करोड़ जनधन बैंक खातों में अबतक 1,00,495.94 करोड़ रूपये जमा किये जा चुके हैं। इस योजना के लाभार्थियों के खातों में जमाराशि लगातार बढ़ रही है। हफ्ते भर पहले कुल जमा राशि 99,232.71 करोड़ रुपये थी जो 6 जून को 99,649.84 करोड़ रुपये पहुँच गई थी।

28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनधन योजना को लॉंच किया था। जिसका उद्देश्य लोगों को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ने के साथ साथी वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देना था। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) खाते खोले गये है जिसके साथ लोगो को रुपे कार्ड और बैंक ओवरड्राफ्ट की अतिरिक्त सुविधा भी प्रदान की गई है। वित्तमंत्रालय ने हाल ही में राज्यसभा में बताया था की जीरो बैलेंस वाले जनधन खातों में कमी आई है जिनकी संख्या मार्च 2018 में 5.10 करोड़ थी वही मार्च 2019 में घटकर 5.7 करोड़ हो गई है। इस योजना के तहत 28.44 करोड़ से अधिक खाताधारकों को रूपे डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं। बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट (बीएसबीडी) खातों में न्यूनतम बैलेंस बनाए रखने की कोई आवश्यकता नहीं है।

इस योजना की सफलता से उत्साहित सरकार ने 28 अगस्त, 2018 के बाद खोले गए नए खाताधारकों को दुर्घटना बीमा कवर को 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 2 लाख रुपये कर दिया। इसके साथ ही बैंक से ओवरड्राफ्ट की सीमा भी दोगुनी करके 10,000 रुपये कर दी गई है। इसकी सबसे ख़ास बात यहाँ है कि जन धन खाताधारकों में से 50 फीसदी से अधिक महिलाएं हैं।

प्रधानमंत्री जनधन योजना का मुख्य उद्देश्य विभिन्न वित्तीय सेवाओं जैसे सभी के लिये बचत बैंक खाते सुनिश्चित करना, लोगों को उनकी जरूरत के हिसाब ऋण प्रदान करना , पैसे भेजने की सुविधा, कमजोर वर्गों और कमजोर आय वाले समूहों को बीमा और पेंशन सुनिश्चित करना है।