रेप केस में दाती महाराज को साकेत कोर्ट ने किया तलब, 23 जनवरी को होना हैं कोर्ट में हाजिर

NEW DELHI: रेप केस मामले में दाती महाराज को दिल्ली के साकेत कोर्ट ने 23 जनवरी को तलब किया है। साकेत कोर्ट ने दाती महाराज और उनके 3 भाइयों को 23 जनवरी को अदालत में हाज़िर होने का नोटिस जारी किया है। दिल्ली क्राइम ब्रांच द्वारा दायर चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए अदालत ने यह निर्णय लिया हैं। इसके पहले 17 नवंबर को साकेत कोर्ट ने क्राइम ब्रांच के आरोप पत्र पर संज्ञान लेने से इनकार कर दिया था।

आपको बता दें कि 30 अक्टूबर को सीबीआई ने स्वयंभू संत दाती महाराज के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले में रिपोर्ट दाखिल की थी। मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने 3 अक्टूबर को मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट दिल्ली पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं था।

जब हाईकोर्ट ने आरोप पत्र में पुलिस को अब तक दाती महाराज को गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं मिलने की बात देखी तो वह नाराज हो गया। तब हाईकोर्ट ने मामले की जांच सीबीआई को सौंपते हुए इस मामले में पूरक आरोप पत्र दायर करने का निर्देश दिया था। करीब 300 पेजों के आरोप पत्र में क्राइम ब्रांच ने दाती महाराज के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 ,377 और धारा 354 के तहत आरोपी बनाया।

Daati Maharaj

चार्जशीट में कहा गया कि पुलिस को अब तक दाती महाराज को गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं मिले हैं। पीड़िता द्वारा एफआईआर दर्ज कराने के करीब 3 महीने के बाद दायर चार्जशीट में क्राइम ब्रांच ने दाती महाराज के भाईयों को भी आरोपी बनाया है। क्राइम ब्रांच ने दाती महाराज को गिरफ्तार किए बिना ही चार्जशीट दाखिल किया था।

आपको बता दें कि पीड़ित युवती की शिकायत पर फतेहपुरी बेरी थाने की पुलिस ने 7 जून को दाती और उसके तीन भाइयों अशोक, अर्जुन और अनिल के खिलाफ हैवानियत के आरोप में एफआईआर दर्ज की थी। शिकायतकर्ता का कहना था कि कथित आरोपियों ने साल 2016 में दिल्ली और राजस्थान के आश्रम में चरण सेवा के नाम पर उसका यौन शोषण किया। पीड़िता की मानें तो उस पर पेशाब पीने का भी दबाव बनाया गया। 12 जून को यह केस स्थानीय पुलिस से लेकर क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दिया गया था।