स्वतंत्र विचारों के कारण बांग्लादेश में गई एक और लेखक की जान... गोली मारकर उतारा मौत के घाट

स्वतंत्र विचारों के कारण बांग्लादेश में गई एक और लेखक की जान... गोली मारकर उतारा मौत के घाट

By: Aryan Paul
June 13, 02:06
0
New Delhi: बांग्लादेश में फिर एक बार खुले विचार रखने और स्वतंत्र सोच जाहिर करने लिए एक लेखक को अपनी जान की कीमत चुकानी पड़ी है।

बांग्लादेश के मुंशीगंज जिले में एक लेखक की अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। रिपोर्ट के मुताबिक, बिशाखा प्रकाशिनी के मालिक शाहजहां बाचू को सोमवार को उनके पैतृक गांव ककाल्डी में दो मोटरसाइकिल सवार चार हमलावरों ने गोली मार दी. शाहजहां की मौके पर ही मौत हो गई।

स्वतंत्र विचारों के लेखक के रूप में प्रसिद्ध शाहजहां बांग्लादेश की कम्युनिस्ट पार्टी के मुंशीगंज जिला इकाई के महासचिव रह चुके हैं. शाहजहां की बेटी दुरबा जहां ने फेसबुक पोस्ट में बताया कि उनके पिता को दो बार गोली मारी गई. इस हत्या के पीछे के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। 


तो वहीं इस मामले पर बांग्लादेशी मूल की लेखिका और फिलहाल भारत में रह रहीं लेखिका तस्लीमा नसरीन ने कड़ी निंदा की है। नसरीन ने ट्वीट करते हुए कहा, ”एक नास्तिक कवि शाहजहां बाचू को इस्लामिस्ट आतंकियों ने बांग्लादेश में मार दिया, उन्हें जान का खतरा था लेकिन फिर भी सरकार ने कोई सुरक्षा नहीं दी

अभी एक दिन और एम्स में रह सकते हैं वाजपेयी, ICU से डॉक्टरों ने सामान्य वार्ड में किया शिफ्ट

हालांकि वहां के लिए ये कोई नया नहीं है, इससे पहले भी वहां इस तरह के बहुत मामले सामने आ चुके हैं। बांग्लादेश में अमेरिकी ब्लॉगर अविजीत रॉय की 26 फरवरी, 2015 को उस समय हत्या कर दी गई थी जब वह अपनी पत्नी के साथ एक पुस्तक मेले से लौट रहे थे। इस हमले में उनकी पत्नी घायल हो गई थी।

आप हमारे वीडियो यूट्यूब पर भी देख सकते हैं

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।