दिल्ली: चोरी का था शक, मकान मालिक ने बेटे के साथ मिल कर विधवा किरायदार को पी’ट-पी’ट कर मा’र डाला

New Delhi: राजधानी के महरौली इलाके से दिल दह’ला देने वाली वा’रदात सामने आई है। यहां के एक मकान मालिक ने अपने बेटे के साथ मिलकर अपनी किरायदार की पीट-पीट कर ह’त्या कर दी। पुलिस ने जब इसके पीछे की वजह पूछी तो इसे जानकर वो भी हैरान हो गए। पिता और बेटे ने बताया कि उन्हें किरायदार 44 वर्षीय विधवा पर 3 लाख रुपये चु’राने का शक था जिसका पता लगाने के लिए उन्होंने उसकी पी’ट-पी’ट कर जा’न ले ली। घटना की रिपोर्ट शनिवार को महरौली पुलिस स्टेशन में की गई।

मृतक की पहचान मंजू गोयल के रूप में की गई है जो पिछले छह महीने से महरौली इलाके में किराए के मकान में रह रही थी। वह जीविका चलाने के लिए घरेलु सहायिका का काम करती थी। परिवार के अनुसार, उसके मकान मालिक सतीश पाहवा ने मंजू पर घर से भारी मात्रा में नकदी चु’राने का आरोप लगाया, जिसके बाद, मकान मालिक ने उसकी नि’र्दयतापूर्वक पि’टाई की।

मृतक मंजू के भाई मुकेश जिंदल ने कहा, “हमें शनिवार सुबह करीब 8 बजे फोन आया। उसके मकान मालिक ने हमें बताया कि उसने (मृ’तक) घर में चो’री की है और उन्होंने उसे पी’टा है।” जिंदल ने कहा, “पाहवा परिवार ने मेरी बहन पर 2.5 लाख रुपये से 3 लाख रुपये चुराने का आरोप लगाया। यहां तक ​​कि उन्होंने उसकी बचत के 60,000 रुपये भी छी’न लिए।

कॉल रिसीव करने के बाद, अपनी पत्नी और एक दोस्त के साथ जिंदल वहां पहुंचे और मंजू को बेहद गंभीर हालत में पाया। मंजू के भाई ने सतीश पाहवा, उसके बेटे और उसकी बहन की हत्या सहित नौकरानी सहित अन्य सदस्यों पर आरोप लगाया।

पुलिस जांच से बचने के लिए पहले मकान मालिक ने पुलिस में सूचना नहीं दी और न ही उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। मकान मालिक ने घर पर ही इलाज के लिए एक डॉक्टर को बुलाया, हालांकि, मंजू ने बाद में दिन में ही दम तोड़ दिया। बाद में मंजू के परिजनों ने पुलिस को सूचना दी।

सतीश और उसके बेटे पंकज के खिलाफ कथित संबंध में हत्या का मामला दर्ज किया गया है। मृतक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और आगे की जांच जारी है।