कश्मीर में CRPF जवान सुनील यादव शहीद, पिता भी सेना में रहकर कर चुके हैं देश की सेवा

New Delhi :  जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में कानपुर के सीआरपीएफ जवान सुनील यादव शहीद हो गए। दस दिन पहले वह पुलवामा में पहाड़ियों से दरके पत्थरों की चपेट में आकर घायल हो गए थे। बुधवार को उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। गुरुवार सुबह जवान का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव लाया गया।

चौबेपुर के भिंडूरी गांव के रहने वाले सुनील यादव जम्मू कश्मीर के पुलवामा में तैनात थे। सुनील के पिता भी सीआरपीएफ में थे। दस दिन पहले सुनील गश्त कर रहे थे, इसी बीच पहाड़ का एक हिस्सा धसक गया। इसकी चपेट में आकर सुनील यादव गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें सैनिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सुनील यादव का पार्थिव शरीर जैसे ही घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। परिवार में पत्नी वंदना, मां विजयलक्ष्मी और भाई नंदकिशोर हैं। भाई नंद किशोर ने बताया कि सिर पर चोट लगी थी, जिससे उनकी हालत गंभीर थी। उन्होंने बताया कि वह और भाभी वंदना उन्हें देखने के लिए पुलवामा गए थे। उनका सैन्य अस्पताल में इलाज चल रहा था। सोमवार की रात ही हम लोग उन्हें देख कर लौटे थे। बुधवार शाम हमें भाई के निधन की सूचना मिली।