CRPF ने कहा- ‘प्रियंका गांधी ने बिना बताए यात्रा कीं, नियम तोड़े, फिर भी सुरक्षा कवर दिया गया

New Delhi : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ शनिवार के घटनाक्रम पर सीआरपीएफ ने महानिदेशालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इसमें प्रियंका पर सुरक्षा नियमों की अनदेखी करने का आरोप लगा है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने रविवार को महिला पुलिस अधिकारी पर प्रियंका के साथ धक्का-मुक्की करने और रास्ता रोके जाने की शिकायत राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और सीआरपीएफ महानिदेशालय को भेजी थी।

आईजी इंटेलिजेंस पीके सिंह ने रिपोर्ट में कहा है कि प्रियंका गांधी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है। बल्कि, उन्होंने बिना बताए अपनी यात्राएं कीं। इस दौरान उन्होंने बुलेटप्रूफ गाड़ी का इस्तेमाल न करके सिविल वाहन स्कूटी का प्रयोग किया, जो नियमों की अनदेखी है। इसके बावजूद उन्हें पर्याप्त सुरक्षा कवर दिया गया। सीआरपीएफ ने प्रियंका को नियमों का पालन करने की सलाह दी है।

दरअसल, प्रियंका गांधी ने शनिवार शाम को लखनऊ में पैदल मार्च किया था। इस दौरान 1090 चौराहे के पास पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। तब प्रियंका ने आरोप लगाया कि पुलिस ने जगह-जगह उनकी गाड़ी को रोका। जब वे पैदल चलने लगीं तो एक महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें धक्कर देकर गिरा दिया और गला दबाया। हालांकि, कुछ समय बाद प्रियंका गला दबाने वाले बयान से पलट गईं। उन्होंने गला दबाने की जगह गले पर हाथ लगाने की बात कही।