पी चिदबंरम की बढ़ी मु’श्किलें, कोर्ट ने ED को तिहाड़ जेल में पूछताछ की अनुमति दी

New Delhi : दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदबंरम की मुश्की’लें बढ़ती जा रही है। मंलगवार को दिल्ली की एक कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदबंरम से 30 मिनट पूछताछ करने की अनुमति दी। अब ईडी बुधवार को उनसे तिहाड़ जेल में पूछताछ करेगी। गौरतलब है कि कोर्ट पूछताछ करने के बाद जरूरत पड़ने पर ईडी को चिदंबरम को गि’रफ्तार करने की भी अनुमति दे दी है।

आपको बता दें कि 74 वर्षीय चिदंबरम P. Chidambaram सीबीआई और ईडी दोनों द्वारा द’र्ज मामलों में जां’च का सामना कर रहे हैं। ये 2007 में आईएनएक्स मीडिया को दी गई विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी में क’थित अनि’यमितताओं से संबंधित है।इस मा’मले में उनपर 2007 में 305 करोड़ रुपये के भ्र’ष्टाचार का आ’रोप लगा था।

उन्हें सीबीआई ने 21 अगस्त को गि’रफ्तार किया था और पूछताछ के लिए अपनी हि’रासत में भेजा था।

आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने दिल्ली हाईकोर्ट में पी चिदंबरम P. Chidambaram की जमानत याचिका का वि’रोध किया था। है। सीबीआई ने कोर्ट में दाखिल अपने जवाब में कहा मामले की अब तक जाँच में पता चला है कि आ’रोपी पी चिदंबरम ने वित्तमंत्री रहते हुए अ’वैध संतुष्टि मांगी थी। जिसका भुगतान भारत और विदेशों में इंद्राणी मुखर्जी और प्रतीम मुखर्जी द्वारा पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को किया गया था।

चिदंबरम ने अपनी गि’रफ्तारी के खि’लाफ यह तर्क दिया कि है ये संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत उनके मौलिक अधिकार का उ’ल्लं’घन है, उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देने वाली उनकी याचिका पर शीर्ष अदालत द्वारा 20 और 21 जुलाई को सुनवाई नहीं की गई थी और उन्हें 21 अगस्त की रात को गिर’फ्ता’र किया गया था। उन्होंने इस मामले में अपनी सं’लिप्तता से इं’कार किया है। सीबीआइ ने ए’फआइ’आर 15 मई 2017 को द’र्ज की थी और उसके बाद उसी साल ईडी ने मनी लां’ड्रिंग का मामला द’र्ज किया था।