कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी पांच बजे तक टीवी डिबेट में लाइव रहे और उसके बाद अचानक चल बसे

New Delhi : कांग्रेस नेता और प्रवक्ता राजीव त्यागी का दिल का दौरा से निधन हो गया है। शाम पांच बजे तक वे आज तक न्यूज चैनल के डिबेट में शामिल रहे। राजीव त्यागी के अचानक निधन से सभी हैरत में हैं। पार्टी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है और कहा है- वे सच्चे देशभक्त थे। राजीव त्यागी एक कुशल वक्ता थे। टीवी की बहसों में पार्टी का पक्ष जोरदार ढंग से रखते थे। आज शाम में भी वे टीवी डिबेट पर नॉर्मल थे लेकिन इस डिबेट के थोड़ी देर बाद ही उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। उन्हें तुरंत कौशाम्बी के यशोदा अस्पताल ले जाया गया पर वे बचाये न जा सके।

कांग्रेस की ओर से ट‍्वीट कर शोक संदेश जारी किया गया- हम राजीव त्यागी के अचानक निधन से बेहद दुखी हैं। वे निष्ठावान कांग्रेसी और सच्चे देशभक्त थे। इस दुख की घड़ी में हमारी संवेदनाएं और प्रार्थना उनके परिवार और दोस्तों के साथ हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शोक प्रकट करते हुये कहा – कॉंग्रेस ने आज अपना एक बब्बर शेर खो दिया। राजीव त्यागी के कॉंग्रेस प्रेम व संघर्ष की प्रेरणा हमेशा याद रहेंगे। उन्हें मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि व परिवार को संवेदनाएँ। प्रियंका गांधी ने ट‍्वीट कर अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रवक्ता श्री राजीव त्यागी जी की असामयिक मृत्यु मेरे लिए एक व्यक्तिगत दुःख है। हम सबके लिए अपूर्णीय क्षति है। राजीव जी विचारधारा समर्पित योद्धा थे। समस्त यूपी कांग्रेस की ओर से परिजनों को हृदय से संवेदना। ईश्वर उनके परिवार को दुख सहने की शक्ति दें।

आज तक टीवी चैनल के डिबेट में उनके साथ रहे भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने शोक जताते हुये कहा- विश्वास नहीं हो रहा है, कंग्रेस के प्रवक्ता मेरे मित्र राजीव त्यागी हमारे साथ नहीं हैं। आज 5 बजे हम दोनों ने साथ में टीवी चैनल पर डिबेट भी किया था। जीवन बहुत ही अनिश्चित है …अभी भी शब्द नहीं मिल रहे। हे गोविंद राजीव जी को अपने श्री चरणों में स्थान देना।
कुमार विश्वास ने ट‍्वीट किया- हे गिरधारी, हे महाकाल क्या कर रहे हो। मेरे बेहद प्यारे पड़ोसी और शालीन इंसान राजीव त्यागी की मृत्यु। ऐसे मिलनसार और मनोहर राजनीतिज्ञ को हार्ट-अटैक?अभी हफ़्ते भर पहले तो मुझे कॉल करके अपने बाग के आम भिजवाए थे राजीव ने, तय हुआ था कि जल्दी घर चाय पीने आओगे। अब बस भी कर ईश्वर।

19 मार्च 1999 को गाजियाबाद में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सभा में राजीव त्यागी ने अटल बिहारी वाजपेयी को काला झंडा दिखाया था और इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया था। राजनीतिक विरोध-प्रदर्शन के चलते राजीव 5 बार जेल गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− one = five