दिग्गज नेताओं द्वारा कांग्रेस को फिर से खड़ा करने की कोशिश, पार्टी करेगी HR विभाग का गठन

New Delhi: राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के दो महीने बाद, कांग्रेस कार्यसमिति आखिरकार बैठक करने का फैसला किया है। संसद के बजट सत्र समाप्त होने के अगले दिन कांग्रेस की बैठक करेगी। एचटी के अनुसार बैठक में पार्टी को पुनर्जीवित करने के तरीकों पर सुझाव देने वाली एक रिपोर्ट पर चर्चा की जा सकती है। गांधी परिवार के सलाहकार सैम पित्रोदा ने रिपोर्ट तैयार की है। कांग्रेस के एक करीबी ने नाम न बताने की शर्त पर मीडिया को बताया कि इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष को चुनने के बारे में भी चर्चा करेगी।

पार्टी के संचार प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पुष्टि की कि कांग्रेस कार्यसमिति संसद के मौजूदा सत्र के बाद बैठक करेगी, लेकिन बैठक के लिए एजेंडा अभी तक तय नहीं किया गया है।

HT ने यह भी बताया है कि रिपोर्ट, दो हफ्ते पहले प्रस्तुत की गई, इस रिपोर्ट में 134 वर्षीय पार्टी को पुनर्जीवित करने के लिए 20 सुझावों की सूची है। कांग्रेस ने 2014 में संसदीय चुनावों में अपने सबसे खराब प्रदर्शन करते हुए लोकसभा चुनाव में सिर्फ 44 सीटें जीती थी। 2019 के लोकसभा चुनाल में भी अपने खराब प्रदर्शन को दोहराते हुए पार्टी ने सिर्फ 52 सीटें जीती। रिपोर्ट का एक सुझाव पार्टी द्वारा एक मुख्य तकनीकी अधिकारी की नियुक्ति करने के साथ-साथ एक मानव संसाधन विभाग का गठन करना है।

सीडब्ल्यूसी की बैठक, जो कि संसद स्थगित होने के आधार पर 8 या 10 अगस्त को आयोजित की जाएगी। इस बैठक में राहुल गांधी को अपना इस्तीफा वापस लेने के लिए मनाने का एक आखिरी प्रयास किया जाएगा।

शुक्रवार को पार्टी के महासचिवों की एक बैठक में, प्रियंका गांधी वाड्रा ने अध्यक्ष के रूप में उनका नाम न सुझाने के लिए कहा था। शशि थरूर और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह जैसे नेताओं द्वारा प्रियंका गांधी का नाम अध्यक्ष के रूप में सुझाया गया था। लेकिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा इसका खंडन किया गया है।