ESIC अग्निकांड: मोदी सरकार का ऐलान, मृतकों के परिजनों को 10 लाख और घायलों को 2 लाख मिलेगा मुआवजा

NEW DELHI: मुंबई के अंधेरी के कामगार अस्पताल में भीषण आग लगने से 9 लोगों की जान चली गई। कल शाम यानी 17 दिसंबर को करीब 6 बजे अस्पताल में आग लगी थी जिसमें 2 लोग आग की चपेट में आये थे। लेकिन अब मरने वालों की संख्या बढ़कर 9 हो गई है। अस्पताल में भीषण आग से 100 से ज्यादा लोग घायल बताए गए, जिनका इलाज चल रहा हैं। हादसे में मृतकों और घायलों के लिए केंद्र सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है।

दरअसल, अस्पताल में लगी आग के मृतकों के परिजनों को केंद्र सरकार 10 लाख रुपये का मुआवजा देगी जबति गंभीर रूप से घायल को 2 लाख रुपये दिए जायेंगे। इसके अलावा, घायलों को एक-एक लाख रुपये का मुआवजा दिया जायेगा। आपको बता दें कि घायल लोगों से मिलने महराष्ट्र के गृहमंत्री रंजीत पाटिल अस्पताल पहुंचे और उनका हालचाल जाना। साथ ही, डॉक्टरों को लापरवाही न बरतने का आदेश भी दिया।

Andheri ESIC Hospital Fire

वहीं इससे पहले हादसे को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार से बात की और कड़ी जांच के आदेश दिए। हादसे के बाद अस्पातल के कर्मचारी सुविधाओं की मांग कर जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं। कर्मचारियों का आरोप हैं कि अस्पताल में सुरक्षा को लेकर कोई इंतजाम नहीं हैं, ऐसे में अगर कोई हादसा हो जाए तो इसकी जिम्मेदारी लेने से अस्पताल पीछे हट जाता है।

इससे पहले भी मुबंई की मशहूर 18 मंजिला अशोका सम्राट की इमारत में अचानक आग की लपटे उठने लगी और देखते ही देखते इमारत में भीषण आग लग गई। इस हादसे में एक बुजुर्ग महिला की मौक हो गई जबकि 19 लोग गंभीर रूप से झूलस गए। इमारत में आग लगने के चलते 50 से ज्यादा लोग फंस गए थे। निकाले गए सभी लोगों को तुरंत पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां एक बुजुर्ग महिला, जिसकी पहचान लक्ष्मीबाई के रूप में हुई, उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया, जबकि 77 लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।