कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला, नए कमिश्नर का ऐलान आज होगा

New Delhi: बंगाल में CBI और पुलिस के बीच हुआ विवाद इतना अधिक बढ़ गया कि, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट को भी दखल देना पड़ा। कोर्ट ने भी जांच के आदेश दे दिए थे जिसके बाद अब CBI ने कमिश्नर राजीव कुमार से 9 घंटे की लंबी पूछताछ की। वहीं अब कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला हो गया है. राजीव कुमार को कोलकाता पुलिस से राज्य की CID में भेज दिया गया है। राजीव कुमार को CID का एडीजी(क्राइम) बनाया जा सकता है।

CBI से पूछताछ के बाद कमिश्नर पहुंचे कोलकाता

बंगाल के कमिश्नर पर CBI के शिकंजे से हलचल मच गई, तो वहीं सुप्रीम कोर्ट को भी इसमें दखल देना पड़ा। वहीं अब CBI 9 फरवरी को कमिश्नर से पूछताछ करेगी। ताजा रिपोर्ट में सामने आई है जिसमे बताया गया कि, राजीव से अब सीबीआई पूछताछ करने जा रही है। कोर्ट ने भी जांच के आदेश दे दिए थे जिसके बाद अब CBI ने कमिश्नर राजीव कुमार से 9 घंटे की लंबी पूछताछ की। वहीं अब वह वापस कोलकाता पहुंच गए हैं। जाहिर है सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकार थोड़ा नरम पड़ी थी, वहीं कमिश्नर ने भी कहा था कि, वह पूछताछ के लिए तैयार हैं। लेकिन CBI जबरदस्ती कर रही है। एटर्नी जनरल ने कहा था कि SIT ने सही से जांच नहीं की है। साथ ही कहा है कि घोटाले के सबूतों के साथ छेड़-छाड़ किया गया है। TMC से जुड़े लोगों के साथ सही तरीके से जांच नहीं हुई है।

होम मिनिस्ट्री ने बंगाल सरकार से की अपील

बंगाल में CBI और पुलिस के बीच हुए विवाद का मामला शांत होता नजर नहीं आ रहा है। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश दिए जाने के बाद अब होम मिनिस्ट्री ने भी बंगाल सरकार को आदेश दिए हैं और कहा कि , कमिश्नर से पूछताछ में जांच एजेंसियों का पूरा साथ दें। वहीं CBI ने कोलकाता पुलिस के खिलाफ सुप्रिम कोर्ट में अर्जी पेश की थी। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर एक भी सबूत मिला तो राजीव के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। CBI ने कमिश्नर राजीव कुमार पर ये आरोप लगाए थें कि उन्होनें सारदा चिटफंड घोटाले से जुड़े सबूतों को नष्ट किया है।

ममता बोली- हम मोदी सरकार के खिलाफ है

एक तरफ जहां पीएम की अगुआई वाली कमेटी ने नया CBI चीफ बनाया, तो वहीं अब बंगाल में कमिश्नर पर CBI के शिंकजे से हलचल मच गई है। वहीं अब इस मामले को लेकर ममता बनर्जी ने कहा कि, हमारा यह प्रदर्शन एजेंसी के खिलाफ नहीं है। बल्की हम मोदी सरकार के खिलाफ हैं और हमारा यह प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा। हालांकि कल देर रात ममता ने अपना धरना खत्म किया लेकिन अब वह दिल्ली में इसको जारी रखेंगी।