कर चले हम फिदा जानोतन साथियों- तिरंगों में लिपटकर आये शहीद, अंतिम यात्रा में उमड़ा हुजूम

New Delhi : लद्दाख के गलवान घाटी में शहीद बिहार के चार जवानों का आज अंतिम संस्कार आज शुक्रवार 19 जून को हुआ। गुरुवार को विशेष विमान से शहीदों का पार्थिव शरीर पटना लाया गया था। गुरुवार रात और शुक्रवार सुबह शहीदों के पार्थिव शरीर को उनके गांव ले जाया गया।
शुक्रवार सुबह शहीद जवान जय किशोर सिंह का पार्थिव शरीर वैशाली जिले के जंदाहा प्रखंड के चकफतेह गांव लाया गया। पार्थिव शरीर को शहीद के पैतृक आवास पर परिजनों और गांव के लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। परिजनों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग जुटे। इसके बाद अंतिम यात्रा निकाली गई। अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। लोगों ने भारत माता की जय और शहीद जय किशोर अमर रहे के नारे लगाए।

शुक्रवार सुबह शहीद चंदन कुमार का पार्थिव शरीर भोजपुर जिले के जगदीशपुर के ज्ञानपुरा गांव स्थित उनके पैतृक आवास पर पहुंचा। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग जुटे। जैसे ही पार्थिव शरीर गांव आया लोगों ने शहीद चंदन कुमार अमर रहे के नारे लगाए। परिजनों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी।
वीर सपूत कुंदन कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार देर रात सहरसा जिले के सतरकटैया स्थित उनके पैतृक आवास पर लाया गया। तिरंगे में लिपटकर गांव पहुंचे शहीद कुंदन कुमार के पार्थिव शरीर को देख लोगों ने भारत माता की जय और शहीद कुंदन अमर रहे के नारे लगाए। परिजनों ने शहीद को अंतिम विदाई दी। अंतिम यात्रा निकाली जा रही है। हजारों की संख्या में लोग अंतिम यात्रा में शामिल हो रहे हैं।

समस्तीपुर जिले के सुलतानपुर निवासी सुधीर कुमार सिंह के बेटे अमन कुमार सिंह गलवान घाटी में शहीद हो गए थे। शुक्रवार सुबह शहीद का पार्थिव शरीर समस्तीपुर लाया गया। जैसे ही पार्थिव शरीर गांव पहुंचा लोग भारत माता की जय और शहीद अमन अमर रहे के नारे लगाने लगे। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोग जमा हुए। परिजनों ने अपने सपूत को अंतिम विदाई दी। शहीद की अंतिम यात्रा निकाली जा रही है। हजारों लोग अंतिम यात्रा में शामिल हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ seventy one = seventy five