CM योगी ने पहली बार ली सेल्फी, हो गई इंटरनेट पर वायरल

New Delhi : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को कानपुर पहुंचे। यहां उन्होंने 14 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम की व्यवस्थाएं देखीं और अफसरों को हिदायत दी। मुख्यमंत्री ने मोटर बोट सीसामऊ नाले का निरीक्षण किया और मौके को यादगार बनाने के लिए तट पर सेल्फी भी ली। इसके बाद एशिया के सबसे बड़ा यह नाला सेल्फी पॉइंट बन गया।

गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गंगा बैराज पहुंचे। यहां पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से बनाए गए अटल घाट का निरीक्षण किया। सीएम मोटर बोट से सीसामऊ नाला पहुंचे। यहां उन्होंने सेल्फी लेकर इसे सेल्फी पॉइंट नाम दिया। नमामि गंगे परियोजना के तहत बना अटल घाट कानपुर का सबसे बड़ा पिकनिक स्पॉट बनेगा। कानपुर में सीसामऊ नाला एशिया के सबसे बड़ा और 128 साल पुराना है। नमामि गंगे परियोजना के तहत इसे साफ किया गया है।

सीएम ने कहा- जिस सीसामऊ नाले के जरिए पूरे कानपुर शहर का सीवर गंगा में गिरता था। इससे मां गंगा बुरी तरह से प्रदूषित होती थी। कानपुर नगर वासियों को इस बात का मलाल रहता था कि गंगा प्रदूषित हो रही है। नमामि गंगे परियोजना के तहत कार्यों का परिणाम है कि सीवर गिरने की जगह एक सेल्फी पॉइंट बन गया है।

सीएम ने कहा- कानपुर में मां गंगा का पानी आचमन लायक हो गया है। ये बड़े सौभाग्य की बात है कि प्रधानमंत्री इन कार्यों की समीक्षा करने के लिए 14 दिसंबर को आ रहे हैं। कई केंद्रीय मंत्री और कई प्रदेशों के मुख्यमंत्री नमामि गंगे परियोजना के इस बेहतर काम को देखेंगे। मां गंगा के प्रति जो आस्था इस देश की है, प्रधानमंत्री ने उसी आस्था को सम्मान देने के मिशन को आगे बढ़ाया है। इस वर्ष के शुरुआत में प्रयागराज कुंभ इसका एक उदाहरण था। नमामि गंगे परियोजना का परिणाम कानपुर में गंगा की अविरलता और निर्मलता का एक उदाहरण भी है। हर राज्य और शहर प्रेरणा लेगा।