उत्तर प्रदेश में आने वाली कंपनियों को सरकार द्वारा इंसेंटिव और कैपिटल सब्सिडी देने पर भी विचार किया जा रहा है।

जमातियों पर CM Yogi ने कहा – ये ना क़ानून मानेंगे, ना सिस्टम, ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं

New Delhi : निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्धों की हरकतों ने दिल्ली से लेकर गाजियाबाद और कानपुर तक मेडिकल स्टाफ को परेशान करके रख दिया है। दिल्ली के नरेला आइसोलेशन सेंटर में तो बदसलूक जमातियों से निपटने के लिए आर्मी टीम बुलाई गई है। गाजियाबाद में इन जमातियों के लिए जेल में ही आइसोलेशन सेंटर बनाने पर विचार हो रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हरी झंडी के बाद इन जमातियों पर NSA लगाये जाने की उम्मीद है। ऐसे में इनको सालभर जेल में रहना होगा।
ग़ाज़ियाबाद की घटना पर यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा – ये ना क़ानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दोषी हैं। जो इन्होंने महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किया है, वह जघन्य अपराध है। इन पर NSA लगाया जा रहा है। हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं।

प्रतीकात्मक फोटो : जमाती जगह जगह उत्पात कर रहे हैं। गाजियाबाद में नंगे घूमने लगते हैं।


चीफ मेडिकल ऑफिसर रविंद्र सिंह ने कहा – हमारे सिस्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ने शिकायत की. जमात के मरीज हमारे स्टाफ के साथ अभद्र व्यवहार कर रहे थे। मेरे स्टाफ ने मुझसे दो से तीन बार कंप्लेंट की, उसके बाद मैंने मरीजों को समझाया लेकिन वह नहीं माने। उन लोगों के परिजन आए तो हमारे स्टाफ ने शिकायत की। फिर भी कुछ नहीं बदला। आखिरकार मेरे स्टाफ ने आकर कहा कि हम इन परिस्थितियों में काम नहीं कर पाएंगे, तब मैंने उनसे लिखित में कंप्लेंट ली और पुलिस को भेजी।
ऐसे समय में जब पूरा देश कोरोना आपदा से परेशान है। लॉकडाउन का पालन कर कोरोना को हराने की जंग में पूरी ताकत से लगा है। एक विचित्र मामला देश और सरकार के सामने काल बनकर आ गया है। ये काल है निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में शामिल लोग, जिन्हे मरकज से निकाल कर दिल्ली और आसपास की जगहों पर क्वारैंटाइन किया गया था।
पहले तो इनके एक ग्रुप ने बुधवार को तुगलकाबाद के रेलवे के क्वारैंटाइन सेंटर पर हंगामा किया। स्वास्थ्य कर्मियों और रेलवे के स्टाफ से मारपीट करने की कोशिश की। उन पर थूका। कैंपस में थूका। हंगामा इतना बढ़ा कि उत्तर रेलवे के चीफ पीआरओ ने tweet कर सरकार से मदद मांगी। पुलिस का सख्त पहरा वहां लगाया गया।
गुरुवार को लोक नायक जय प्रकाश हॉस्पिटल और गाजियाबाद के एमएमजी हॉस्पिटल में तबलीगी जमात के लोगों ने इतना हंगामा किया कि प्रशासन ने भी अपना सर ठोंक लिया। गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आज इस संदर्भ में लोकल पुलिस से लिखित शिकायत की। शिकायत में लिखा है – निजामुद्दीन मरकज से क्वारैंटाइन के लिये लाये गये जमातियों ने आज गाजियाबाद के अस्पताल में उत्पात मचा दिया। जमाती न;ग्न होकर नर्सेां के सामने घूमने लगे। वे सिगरेट की डिमांड करने लगे। यही नहीं जब कर्मचारियों ने उन्हें टोका तो सब पर थू’क’ने लगे। यही नहीं अस्पताल की नर्सों को वे गंदे इशारे करने लगे। फब्तियां कसने लगें। पत्र में लिखा है – अस्पताल की नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों ने इन रोगियों के खिलाफ शिकायत की है। तबलीगी जमात के सदस्य, जो अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रहते थे, अपने वार्ड में अपने पैंट के साथ न”ग्न होकर घूम रहे थे। सभी लोग अ’श्ली’ल गाने भी सुन रहे थे।
CMO गाजियाबाद ने स्थानीय पुलिस से मामले में हस्तक्षेप करने और रोगियों द्वारा इस तरह के व्यवहार को नियंत्रित करने के लिए उचित कार्रवाई करने का आग्रह किया। गाजियाबाद डीएम ने सीएमओ गाजियाबाद को पुलिस को पत्र लिखने के बाद जांच का आदेश दिया है।

गाजियाबाद अस्पताल में छानबीन करती पुलिस

ल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकाले गई जमातियों पर लगातार बदसलूकी के आरोप लग रहे हैं। दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. जेसी पासे ने बताया है कि तब्लीगी जमात में शामिल 188 लोग उनके यहां भर्ती हैं। इनमें से 24 की रिपार्ट आई है। 23 को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कई जमाती टेस्ट कराने से मना कर रहे हैं। उनसे स्टाफ को खतरा था। ऐसे में जिन तीन ब्लॉक में जमातियों को रखा गया है, वहां पुलिस तैनात कर दी गई है। कल तुगलकाबाद में रेलवे के कैंपस में बने क्वारैंटाइन में इन जमातियों ने तमाशा किया था। वहां के स्टाफ डाक्टर पर थू”का था। कैंपस को गंदा किया था।

निजामुद्दीन मरकज से बाहर आते जमाती और इनसेट में इनका नेता मौलाना साद


इधर कोरोनावायरस के आज 53 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से राजस्थान में 21, आंध्रप्रदेश में 12, आगरा में 9, गुजरात में 7, दिल्ली में 2 और महाराष्ट्र-गोवा में 1-1 मरीज मिला है। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 2 हजार 602 हो गई है। 191 लोग ठीक हुए हैं। इससे पहले गुरुवार को देशभर में 486 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यह एक दिन में संक्रमण का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे एक दिन पहले बुधवार को देश में इस सक्रमण के 424 मामले सामने आए थे। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट के मुताबिक हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार 301 है। इनमें से 2 हजार 88 का इलाज चल रहा है। 156 ठीक हो चुके हैं।
प्रधानमंत्री की अपील- लॉकडाउन के बीच जनता का हौसला बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो संदेश के जरिए जनता से एक बार फिर अपील की। उन्होंने कहा कि 5 अप्रैल को रात 9 बजे घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं। प्रकाश की महाशक्ति का एहसास होगा तो लगेगा कि कोई अकेला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty − = thirty nine