दिल्ली के CM केजरीवाल का मोदी सरकार पर वार,कहा- हमें डराने के लिए सत्येन्द्र जैन पर किया केस

Satyendra Jain

NEW DELHI: दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं। आये से अधिक संपत्ति के मामले में गृह मंत्रालय ने सीबीआई को उनके खिलाफ मुकदमा चलाने की इजाजत दे दी हैं। सीबीआई का दावा हैं कि सत्येंद्र जैन ने गैरकानूनी रुप से 200 बीघा जमीन खरीदी है। सीबीआई ने कहा कि यह संपत्ति उनकी कंपनी के नाम पर पिछले 5 साल में खरीदी दई। सीबीआई ने दावा हैं कि इस जमीन को खरीदने के लिए काले धन का इस्तेमाल किया गया हैं।

Satyendra Jain

सत्येंद्र जैन के जुड़े इस मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। केजरीवाल ने ट्वीट के जरिए कहा कि मोदी जी विदेशों से घूमकर आए हैं। उन्हें लगता है कच्ची कालोनी वाले दिल्ली गंदा करते हैं। मोदी जी अब सभी कच्ची कालोनिया तोड़ना चाहते हैं। हमें डराने के लिए सत्येन्द्र जैन पर केस किया है। हम सभी कालोनियों में सड़क, पानी, सीवर, नाली बनाकर विकास कर रहे हैं। इन्हें पक्का कराके रहेंगे।

इससे पहले भी केजरीवाल ने ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा था। पहले ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा कि बीजेपी ने ये केस सत्येन्द्र जैन पर नहीं किया बल्कि कच्ची कालोनियों में रहने वाले हर शख़्स पर किया है। सत्येन्द्र जैन ने कच्ची कालोनियों को पक्का करने की स्कीम बनाई। केंद्र ने उसको पास तो किया नहीं, उलटे आज सत्येन्द्र जैन पर केस दर्ज कर दिया। बीजेपी कच्ची कालोनियों को पक्का करने के सख़्त ख़िलाफ़ है। बीजेपी दिल्ली वालों की दुश्मन है। मोदी दिल्ली के लिए, तू तो हानिकारक है।

आपको बता दें कि इस साल फरवरी में सीबीआई ने किसी और केस की जांच के दौरान दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन की तीन संपत्तियों के कागजात, 2 करोड़ रुपये की डिपोजिट स्लिप्स, उसकी कंपनी की 41 चेकबुक बरामद की थीं। सीबीआई की टीम डेंटल काउंसिल के एक रजिस्ट्रार ऋषि राज के खिलाफ रिश्वत लेने के एक मामले की तफ्तीश कर रही थी। उसी सिलसिले में जब ऋषिराज के लॉकरों की तलाशी ली गई तो उनमें से 24 लाख रुपये कैश और आधा किलो सोना बरामद हुआ। साथ ही उन लॉकर्स में सत्‍येंद्र जैन की 3 संपत्तियों के कागजात, 2 करोड़ की डिपोजिट स्लिप और 41 चेक बुक बरामद हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *