जब पुजारा के पिता ने समझाया था.. बेटा वो 7 रन मायने नहीं रखते

NEW DELHI : भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के नए वॉल कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा ने खुलासा किया है कि ऑस्ट्रेलिया में जब वो दोहरा शतक बनाने से महज 7 रनों से चूके थे तब उनके पिता ने क्या कहा था। मालूम हो कि 3 जनवरी से शुरू हुए सिडनी टेस्ट में पुजारा ने शानदार 193 रनों की पारी खेली थी उसी दिन उनके पिता अरविंद पुजारा के हर्ट की सर्जरी थी। चेतेश्वर ने बताया कि उस स्वदेश में हार्ट सर्जरी से गुजर रहे उनके पिता ने उन्हें दिलासा दिया था। उन्होंने कहा था कि डबल सेंचुरी से चूकने पर तुम निराश मत होना, क्योंकि 7 रन कोई मायने नहीं रखते है।

सिडनी टेस्ट के वक्त चेतेश्वर के पिता की हार्ट सर्जरी हो रही थी। पुजारा ने एक इंटरव्यू में कहा है कि उनको सिडनी टेस्ट से पहले से पता था कि उनके पिता ठीक हो जाएंगे, डॉक्टर ने कहा था कि वो ठीक हो जाएंगे। उनको इस ऑपरेशन की जरूरत थी क्योंकि उनका हार्ट रेट सामान्य नहीं चल रहा था। क्रिकेटर ने कहा कि पिता की सर्जरी 3 जनवरी को थी और उसी दिन सिडनी टेस्ट भी शुरू था। उनके दिमाग में जरूर ये बात कहीं न कहीं थी लेकिन वो उनमें से हैं जो मानसिक रूप से मजबूत हैं इसलिए वो अपनी बल्लेबाजी पर ही ध्यान लगा रहे था। बता दें कि सिडनी में चेतेश्वर पुजारा ने 373 गेंदों का सामना कर 22 चौके लगाए और 193 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था।

बता दें कि भले ही पुजारा अपना दोहरा शतक न जमा सके हों लेकिन उन्होंने इंटरनेट पर ढेर सारा प्यार बटोर लिया है। पुजारा ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं। उनके लिए दिग्गजों से लेकर फैंस तक सभी उनकी तारीफ कर रहे हैं।

ये थी सिडनी टेस्ट की प्लेइंग 11 भारत – केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और कुलदीप यादव। प्लेइंग 11 ऑस्ट्रेलिया- उस्मान ख्वाजा, मार्कस हैरिस, एम लबुस्चगने, शॉन मार्श, ट्रेविस हेड, पीटर हैंड्सकॉम्ब, टिम पेन, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लायन, जोश हेजलवुड