मुंबई : मुख्य चुनाव आयुक्त ने बैलेट पेपर से चुनाव की मांग ठुकराई,कहा यह अब गुजरे ज़माने की बात

New Delhi : महाराष्ट्र के आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों के लिए बुधवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा मुंबई पहुंचे। जहाँ उन्होंने चुनावों से संबंधित विषयों पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कुछ राजनीतिक दलों की बैलेट पेपर के माध्यम से चुनाव कराने की मांग को ठुकराते हुए कहा यह अब बीते जमाने की बात हो चुकी है। अब बैलेट पेपर से चुनाव करना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में खराबी हो सकती है लेकिन इससे छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। महाराष्ट्र में बाढ़ के कारण चुनावों को स्थगित करने के सवाल पर उन्होंने कहा हमने मुख्य सचिव से पूछा कि क्या हमें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों सांगली, सतारा और कोल्हापुर जिले में अपना काम जारी रखना चाहिए या नहीं, अगर वे किसी चीज के लिए जरूरी मामला बनाते हैं तो आयोग इस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगा।

बता दें देश की प्रमुख विपक्षी पार्टियाँ लगातार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी की आशंका के चलते चुनावों को बैलेट पेपर से कराने की माँग करती रहीं है। चुनाव आयोग हमेशा से इस बात को खारिज करता रहा है कि ईवीएम में गड़’बड़ी हो सकती है। चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक पार्टियों को बार बार भरोसा दिलाया है कि ईवीएम मशीन पूरी तरह से सुरक्षित है इसमें किसी प्रकार से छेड़छाड़ संभव नहीं है। लेकिन फिर भी विपक्षी राजनीतिक पार्टियों को लगता है कि ईवीएम मशीनो से छेड़छाड़ की जा सकती है।

इससे पहले भी मुख्य चुनाव आयुक्त ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा पूर्व में पारित आदेशों का हवाला देते हुए बैलेट पेपर से वापस चुनाव कराने लाने की मांग को ख़ारिज कर चुके हैं । सीईसी सुनील अरोड़ा ने कहा “हम बैलेट पेपर के ज़माने में वापस नहीं जा रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट बार बार कह चूका है कि बैलेट हमारे अतीत हैं।”