चंदा कोचर के खिलाफ जारी हुआ लुकआउट नोटिस, FIR दर्ज होने के बाद फिर बढ़ेगी मुसीबत

New Delhi: आईसीआईसीआई की पूर्व प्रबंध संचालक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर के खिलाफ कुछ दिनों पहले सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की थी। वहीं अभी भी उनकी मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। ऐसे में अब एक बार फिर CBI ने चंदा कोचर चंदा कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है।

ऐसे में अभी भी चन्दा कोचर की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब देखना होगा की इस नोटिस के बाद चंदा अपने हक़ में क्या बयान देती हैं।

 

CBI ने जारी किया लुकआउट नोटिस

ICICI बैंक की पूर्व प्रबंध संचालक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर के खिलाफ कुछ दिनों पहले CBI ने केस दर्ज किया था। वहीं अभी भी उनकी मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। जाहिर है चंदा कोचर के खिलाफ वीडियोकॉन लोन मामले में हड़कंप मची हुई है। इसी बीच अब एक बार फिर CBI ने चंदा कोचर चंदा कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है। ऐसे में अभी भी चन्दा कोचर की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब देखना होगा की इस नोटिस के बाद चंदा अपने हक़ में क्या बयान देती हैं।

आईसीआईसी बैंक लोन मामले में घमासान

दरअसल ऐसे आरोप है कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर समेत परिवार के सदस्यों को कर्ज पाने वालों की तरफ से वित्तीय फायदे पहुंचाया गया है। इसके अलावा विडियोकॅान ग्रुप के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत पर यह आरोप भी है कि उन्होंने साल 2010 में 64 करोड़ रपए न्यूपावर रीन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड को दिए थे। इस कंपनी को धूत ने चंदा कोचर के पति दीपक कोचर और परिवार के दो सदस्यों के साथ मिलकर खड़ा किया था। साथ ही आरोप है कि आईसीआईआई बैंक से लोन मिलने के 6 महीने बाद धूत ने कंपनी का स्वामित्व दीपक कोच के एक ट्रस्ट को 9 लाख रूपए में ट्रांसफर पर दिया था।