अ’वैध खनन मामलों की जांच में दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश के 22 स्थानों पर सीबीआई की छापे’मारी

New Delhi: सीबीआई उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 22 स्थानों पर छापे’मारी कर रही है। इस छापे’मारी में उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति भी शामिल हैं। उनके घर पर सीबीआई का छा’पा पड़ा है। अ’वैध खनन के मामले में प्रजापति के घर पर छापे’मारी की जा रही है। अ’वैध खनन मामलों की जांच में सीबीआई अमेठी पहुंच चुकी है। सीबीआई की टीम उनके घर के लोगों से भी पूछताछ कर रही है।

प्रजापति महिला के साथ रे’प मामले में भी आरोपी हैं। रे’प के इस मामले में प्रजापति अभी जेल में हैं। इस मामले में वे इलाहाबाद हाईकोर्ट में जमा’नत के लिए गए थे, लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी थी। गायत्री प्रजापति  उत्तर प्रदेश में अखिलेश की समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार में खनन मंत्री रहे हैं।

इलाहाबद हाई कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने 2016 में इस मामले की जांच शुरू की थी। मामले के तहत सीबीआई ने कई जगहों पर छापे’मारी की थी। जनवरी में सीबीआई की टीमों ने लखनऊ, कानपुर, हमीरपुर, जालौन और दिल्ली समेत 14 जगहों पर छापे’मारी की थी। सीबीआई ने इस मामले में सरकारी अधिकारियों और अज्ञात लोगों के खिलाफ के’स दर्ज किया है। आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत इन लोगों पर के’स दर्ज किया गया है। इन नामों में आईएएस अफसर बी चन्द्रकला और समाजवादी पार्टी के नेता एमएलसी रमेश मिश्रा भी शामिल हैं।

नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (NGT) ने खनन पर रोक लगा रखी है। इस रोक के बावजूद इन नेताओं और अधिकारियों ने अ’वैध खनन की इजाजत दी थी। जांच में सीबीआई को अ’वैध खनन के सबूत मिले जो यह साबित करती है कि इसकी वजह से बड़े पैमाने पर सरकारी राजस्व को नुकसान हुआ है।