आलोक वर्मा ने CVC रिपोर्ट पर सीलबंद लिफाफे में कोर्ट में दाखिल किया जवाब, कल होगी सुनवाई

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट 16 नवंबर को सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की उस याचिका पर सुनवाई की, जिसमें उन पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच, उन्हें छुट्टी पर भेजने के आदेश को चुनौती दी गई थी। इस सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा से सीवीसी की जांच रिपोर्ट पर आज यानी 19 नवंबर तक जवाब मांगा था और कहा कि वह अपने जवाब को एक सील लिफाफे में कोर्ट में जमा करे। इसके चलते आलोक वर्मा ने आज सीवीसी रिपोर्ट पर जवाब कोर्ट में दाखिल कर दिया हैं।

आपको बता दे कि जवाब दाखिल करने से पहले आलोक वर्मा ने कोर्ट से समय की मांग की थी। जिसके चलते सुप्रीम कोर्ट ने 4 बजे तक का समय दिया और कहा कि इस मामले की कल ही सुनवाई होगी, यह मत सोचना की मामले की तारीख आगे बढ़ा दी जाएगी। आपको बता दें कि 12 नवंबर को सीवीसी ने अपनी जांच रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में सौंपी थी। सीवीसी ने छुट्टी पर भेजे गए आलोक वर्मा के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच की है।

Alok Verma

आपको यह भी बता दें कि सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। जिसके बाद सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था। कोर्ट में सीवीसी ने अपनी रिपोर्ट में सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को क्लीनचिट नहीं दी है। सुप्रीम कोर्ट में सीवीसी ने कुछ आरोपों पर और जांच की बात कही है। CVC ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि आलोक वर्मा को क्लीनचिट नहीं दी गई है। उन पर और भी आरोप हैं जिनकी जरूरत है।

जिस पर कोर्ट ने कहा कि हम अभी आदेश नहीं दे सकते हैं। इस पर कोर्ट के न्यायधीश ने कहा कि कुछ और मामलों पर अभी जांच की जरूरत है इसलिए सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सीवीसी को और वक्त दे रहा है। इस मामले की अगली सुनवाई 20 नवंबर को होगी। कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस के कॉल, के एम जोसेफ की बेंच का कहना है कि रिपोर्ट और जवाबों को सार्वजनिक इसलिए नहीं किया जा रहा है क्योंकि इससे सीबीआई की छवि को नुकसान पहुंच सकता है।